September 28, 2020

पर्यावरण

इतिहास

More News

किस्से/कहानियां

रनिया की तीसरी बेटी

कहानी मुनमुन ढाली ‘मून’ आंगन में चुकु-मुकु हो कर बैठी, because रनिया सिर पर घूंघट डाले, गोद मे अपनी प्यारी सी बेटी को दूध पिलाती है और बीच-बीच मे घूंघट हटा

अध्यात्म

भारतीय काल गणना में ‘अधिमास’ की अवधारणा

डॉ. मोहन चंद तिवारी इस वर्ष 18 सितंबर से ‘अधिमास’ प्रारंभ becauseहो चुका है,जो 16 अक्टूबर को समाप्त होगा.और 17 अक्टूबर से नवरात्र प्रारम्भ

पुस्तक समीक्षा

राजनैतिक पाठ में काश और कसक के बीच

प्रकाश उप्रेती बहुत दिनों से लंबित ‘विजय त्रिवेदी’ becauseकी किताब ‘बीजेपी कल, आज और कल’ को आखिर पढ़ लिया. इधर के दो दिन किताब को

Uncategorized

एडवेंचर, एक्साइटमेंट और थ्रिल से भरपूर है सप्तेश्वर ट्रैक

उत्तराखंड के चम्पावत जिले से 25 becauseकिलोमीटर की दूरी पर स्थित है यह ट्रैक गौरव कुमार बोहरा हाँ, यह सच है, जिंदगी का हर लम्हाbecause बहुत छोटा-सा है.

समसामयिक

यूसर्क द्वारा एक दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय वेबिनार

हिमांतर ब्‍योरो उत्तराखण्ड विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान केन्द्र (यूसर्क) एवं अखिल भारतीय आयुर्वेदिक संस्थान (एम्स) ऋषिकेश के संयुक्त तत्वाधान में

हिमाचल प्रदेश

अद्भुत प्राकृतिक छटा, बौद्ध सभ्यता व संस्कृति के लिए प्रसिद्ध है लाहौल-स्पीति 

आदिकाल से देवताओं, गन्धर्वों, किन्नरों और मनुष्यों की मिली जुली जातियों का संगम स्थल रहा है लाहुल सुनीता भट्ट पैन्यूली देवभूमि हिमाचल प्रदेश जहां अपने

स्मृति शेष

युवा मन के शेर: शमशेर 

वराहमिहिर डॉ. अरुण कुकसाल  ‘आज शाम ठीक 4 बजे चौघानपाटा में… के खिलाफ आम जन की आवाज बुलंद करने के लिए शमशेर बिष्ट एवं उनके साथी एक सभा को संबोधित