Home Archive by category साहित्यिक-हलचल

साहित्यिक-हलचल

साहित्यिक-हलचल

अमृतसर में राज्यपाल ने किया एनबीटी के पुस्तक मेले का उद्घाटन

पंजाब के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित और एनबीटी के निदेशक युवराज मलिक की उपस्थिति में हुआ मेले का शुभारम्भ, 5 मार्च से 13 मार्च 2022 तक चलेगा मेला हिमांतर वेब डेस्क खालसा कॉलेज, अमृतसर के सहयोग से आयोजित राष्ट्रीय पुस्तक ट्रस्ट, भारत का अमृतसर पुस्तक मेला 2022 का उद्घाटन 5 मार्च 2022 को पंजाब के
नैनीताल साहित्यिक-हलचल

हिमांतर प्रकाशन की प्रथम पुस्तक ‘मेरे हिस्से का हिमालय’ का विमोचन

हिमांतर ब्यूरो, हल्द्वानी यात्रा का अनुभव एकल से सामूहिकता की प्रक्रिया है. कोई मनुष्य कभी अकेले यात्रा नहीं करता है. उसकी यात्रा में बहुत कुछ दृश्य-अदृश्य साथ होता है. तनुजा जोशी ‘गुलमोहर गर्ल’ because की सद्य प्रकाशित पुस्तक “मेरे हिस्से का हिमालय” इस बात की तस्दीक करती है. देहरादून से भराड़सर यात्रा के अनुभवों पर केंद्रित […]
साहित्यिक-हलचल

युवा साहित्यकार ललित शौर्य को मिला हिंदी सेवा रत्न सम्मान

हिमांतर ब्यूरो, पिथौरागढ़ उत्तराखंड के युवा साहित्यकार ललित शौर्य को देहरादून में हिंदी सेवा रत्न सम्मान से सम्मानित किया गया है. स्वदेशी जागरण मंच द्वारा आयोजित मेले में कार्यक्रम की because मुख्य अतिथि भाजपा महिला मोर्चा की राष्ट्रीय महामंत्री दीप्ति रावत, स्वदेशी जागरण मंच के प्रान्त संयोजक सुरेंद्र, स्वदेशी जागरण मंच के प्रान्त संघर्ष वाहिनी […]
साहित्यिक-हलचल

भारतीय गौरव अवार्ड—2021 से सम्मानित होंगी उत्तराखंड की बेटी

रामेश्वरी नादान को दिल्ली में उत्कृष्ट लेखन के लिए इस सम्मान से नवाजा जाएगा हिमांतर ब्यूरो, नई दिल्ली यूथ वर्ल्ड सोशल मंच और डिकेएसडी लाड़ली नूर कपूर फाउंडेशन दिल्ली द्वारा कला, साहित्य, शिक्षा, चिकित्सा सहित के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए विभिन्न क्षेत्रों के की 101 प्रतिभाओ को because ‘भारतीय गौरव अवार्ड—2021’ से […]
साहित्यिक-हलचल

डॉक्टर रेखा उप्रेती के यात्रा संस्मरण ‘क्षितिज पर ठिठकी सॉंझ’ का लोकार्पण

हिमांतर ब्यूरो, नई दिल्ली दिल्ली विश्वविद्यालय के इंद्रप्रस्थ कॉलेज के हिंदी विभाग में एसोसिएट प्रोफेसर डॉक्टर रेखा उप्रेती के यात्रा संस्मरण ‘क्षितिज पर ठिठकी सॉंझ’ का रविवार को वसुंधरा में लोकार्पण हुआ. किताब में रेखा उप्रेती ने अपने यूरोप-यात्रा के संस्मरणों को शामिल किया है. 20 दिनों की इस यात्रा के दौरान लेखिका ने जो 15 संस्मरण लिखे थे, […]
साहित्यिक-हलचल

हिमालयी सरोकारों को समर्पित त्रैमासिक पत्रिका ‘हिमांतर’ का लोकार्पण

सी एम पपनैं, नई दिल्ली उत्तराखंड सदन चाणक्यपुरी में 14 फरवरी को ‘टीम हिमांतर’ द्वारा अनौपचारिक कार्यक्रम के तहत, हिमालयी सरोकारों को समर्पित त्रिमासिक पत्रिका ‘हिमांतर’ का लोकार्पण because एवं परिचर्चा का आयोजन, उत्तराखंड के सुप्रसिद्ध साहित्यकार, रमेश चन्द्र घिन्डियाल की अध्यक्षता व उत्तराखंड के प्रबुद्ध पत्रकारों, साहित्यकारों, समाजसेवियों व विभिन्न व्यवसायों से जुड़े
साहित्यिक-हलचल

वरिष्ठ कवि व पत्रकार मंगलेश डबराल की स्मृति में

कमलेश चंद्र जोशी वरिष्ठ कवि व साहित्यकार मंगलेश डबराल भौतिक रूप से अब हमारे बीच नहीं रहे लेकिन अपनी कविताओं, साहित्यिक रचनाओं व गंभीर पत्रकारिता के माध्यम से जिस लालटेन को वह जलता हुआ छोड़ गए हैं उसे जलाए रखने और रोशनी बिखेरने का काम वर्तमान व भविष्य की पीढ़ियों के हाथ में है. मंगलेश […]
साहित्यिक-हलचल

पुस्तक ‘रवाँई क्षेत्र के देवालय एवं देवगाथाएं’ लोकार्पित

पुस्तक लोकार्पण हिमांतर ब्‍यूरो, उत्तरकाशी सामाजिक एवं पर्यावरणीय कल्याण समिति (सेवा) के तत्वाधान में देवभूमि उत्तराखण्ड के पश्चिमोत्तर रवाँई क्षेत्र में होने वाले प्रमुख लोकोत्सव देवलांग because के अवसर पर ‘देवडोखरी’ (बनाल) में because अवस्थित रा.उ.मा.विद्यालय के सभागार में दिनेश रावत की पुस्तक ‘रवाँई के देवालय एवं देवगाथाएँ’ का  लोकार्पण उत्‍तरकाशी जनपद के मुख्य शिक्षा
साहित्यिक-हलचल

प्रेमचंद के स्त्री पात्र एवं आधुनिक संदर्भ

प्रेमचंद जी की पुण्यतिथि (8 अक्टूबर) पर विशेष डॉ. अमिता प्रकाश 08 अक्टूबर आज प्रेमचंद को because याद करने का विशेष दिन है. आज उपन्यास विधा के युगपुरुष एवं महान कथा सम्राट मुंशी प्रेमचंद की पुण्यतिथि है. 31 जुलाई के दिन प्रेमचंद ने लमही में एक फटेहाल परिवार में जन्म लेकर तत्कालीन फटेहाल भारत को […]
साहित्यिक-हलचल

घासी, रवीश कुमार, और लिट्टी-चौखा

ललित फुलारा एक बार मैं घासी के साथ रिक्शे पर बैठकर जा रहा था. हम दोनों एक मुद्दे को लपकते और दूसरे को छोड़ते हुए बातचीत में मग्न थे. तभी पता नहीं उसे क्या हुआ? नाक की तरफ आती हुई becauseअपनी भेंगी आंख से मेरी ओर देखते हुए बोला ‘गुरुजी कॉलेज भी खत्म होने वाला […]