Home Posts tagged Rawain Culture
उत्तरकाशी

लोक साहित्य रत्न सम्मान से सम्मानित हुए रवांई के कई साहित्याकार

दिनेश रावत के रवांल्टी कविता संग्रह ‘का न हंदू’ का लोकार्पण हिमांतर ब्यूरो, पुरोला लोक भाषा संस्कृति को बचाने  एवं नवांकुर लोक कवियों को मंच प्रदान करने  के उद्देश्य से अखिल भारतीय लोक साहित्यिक मंच द्वारा उत्कृष्ट राइका पुरोला में आयोजित वार्षिक अधिवेशन एवं सम्मान  समारोह में दो
देहरादून साहित्‍य-संस्कृति

रवांई क्षेत्र में पत्रकारिता की अविरल लौ जलाते रहे राजेन्द्र असवाल

पुण्य स्मरण: पुण्य तिथि (30 मई) पर विशेष महावीर रवांल्टा रवांई क्षेत्र में पत्रकारिता की बात करें तो आज अनेक लोग इस क्षेत्र में सक्रिय हैं लेकिन इस क्षेत्र से किसी भी  नियमित पत्र का प्रकाशन नहीं हो सका सिर्फ अस्सी के दशक के पूर्वाद्ध में  बर्फिया लाल जुवांठा और शोभा because राम नौडियाल के […]
उत्तराखंड हलचल संस्मरण साहित्‍य-संस्कृति

रवाँई यात्रा – भाग—3  (अंतिम किस्त )

भार्गव चन्दोला, देहरादून महोत्सव के अंतिम दिन सुबह आंख खुली तो ठंड का अहसास रजाई से बाहर आकर ही हुआ। नौगांव फारेस्ट गेस्ट हाउस के बाहर आये तो देखा चारों तरफ से बांज देवदार के पेड़ों के बीच सुनसान जगह पर गेस्ट हाउस बना है, आसपास का दृश्य बेहद रूमानी था मगर बांज बुरांश देवदार […]
Uncategorized उत्तराखंड हलचल संस्मरण साहित्‍य-संस्कृति हिमालयी राज्य

रवाँई यात्रा – भाग-2

भार्गव चंदोला 28, 29, 30 दिसंबर, 2019 उत्तरकाशी जनपद की रवांई घाटी के नौगांव में तृतीय #रवाँई_लोक_महोत्सव अगली सुबह आंख खुली तो बाहर चिड़ियों की चहकने की आवाज रजाई के अंदर कानों तक गूंजने लगी, सर्दी की ठिठुरन इतनी थी की मूहं से रजाई हटाने की हिम्मत नहीं हो रही थी। कुछ समय बिता तो […]