बॉक्सिंग : खेल के प्रति जुनून ने दिलाई सफलता, मिल रही बधाइयां

0
62

हल्द्वानी : हम जब भी किसी चीज को समर्पित भाव और कड़ी मेहनत से करते हैं तो उसमें सफलता अवश्य मिलती है। कहते हैं की खेल के लिए जुनूनी होना जरूरी है। ऐसे ही एक जुनूनी हैं कुमाऊं मंडल विकास निगम में कार्यरत प्रकाश शर्मा। प्रकाश के पास सरकारी नौकरी ही है। बावजूद, उन्होंने बॉक्सिंग के प्रति अपने जुनून को नहीं छोड़ा और अपने निगम से अवैतनिक अवकाश लेकर प्रशिक्षण के लिए पटियाला चले गए।

शीशमहल निवासी प्रकाश शर्मा एशिया के सबसे बड़े स्पोर्ट्स इंस्टिट्यूट, स्पोर्ट्स ऑथोरिटी ऑफ इंडिया के नेताजी सुभाष नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ स्पोर्ट्स, पटियाला से बॉक्सिंग खेल में कोचिंग का डिप्लोमा सफलतापूर्वक पास कर लिया है। प्रकाश शर्मा से पहले विभिन्न विद्यालय में खेल प्रशिक्षण के तौर पर अपनी सेवाएं दे चुके हैं। इसके अलावा उन्होंने पीएस बॉक्सिंग अकादमी के जरिए राज्य और देश के लिए बेहतरीन खिलाड़ी भी तैयार किए।

प्रकाश ने बताया कि इसके लिए पहले राष्ट्रीय स्तर पर टेस्ट पास करने के बाद पटियाला से एक वर्षीय बॉक्सिंग में कोचिंग का प्रशिक्षण प्राप्त किया, जहां बॉक्सिंग की बारीकियों के साथ-साथ स्पोर्ट्स साइंस की भी बारीकियां सीखी। इंटर्नशिप पूरी करने के बाद अंतिम परिणाम जारी किया गया। प्रकाश उत्तराखंड बॉक्सिंग एसोसिएशन में रेफरी और जज होने के साथ ही बॉक्सिंग के राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी भी हैं। प्रकाश इन दिनों कुमाऊं मंडल विकास निगम में कार्यरत हैं।

उनकी इस उपलब्धि में उत्तराखंड बॉक्सिंग के आजीवन अध्यक्ष मुखर्जी निर्वाण, उत्तराखंड बॉक्सिंग के टेक्निकल एडवाइजर डीपी भट्ट (एशियन मेडलिस्ट), उत्तराखंड बॉक्सिंग के महासचिव गोपाल सिंह खोलिया, अंतराष्ट्रीय कोच श्री देवेंद्र चंद्र भट्ट, भारतीय महिला बॉक्सिंग पूर्व चीफ कोच भास्कर भट्ट, उत्तराखंड बॉक्सिंग के कोषाध्यक्ष नवीन टम्टा, अंतरास्ट्रीय रेफ़री और जज संजीव पौरी, जोगेंद्र सौंन, आरओसी चैयरमेन उत्तराखंड व अंतरास्ट्रीय रेफरी व जज  जोगेंद्र बोरा, डॉ. भुवन तिवारी, ललित मोहन कुंवर, पुष्पा दरमवाल, विमला रावत, और वेंडी स्कूल के एमडी डॉ. विकल बवाड़ी, अंतराष्ट्रीय कोच मुकेश बेलवाल, जीवन प्रकाश, शैलेन्द्र भंडारी , रवि मेहरा और सभी खेल प्रेमियों में खुशी की लहर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here