April 17, 2021
Home Posts tagged हिमांतर
उत्तराखंड

EXCLUSIVE: कांग्रेस का जवाब, निराधार हैं रंजीत रावत के आरोप, तंत्र-मंत्र पर भरोसा नहीं करते हरीश रावत

हिमांतर ब्यूरो, नर्ई दिल्ली वरिष्ठ कांग्रेसी नेता एवं उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत पर रंजीत रावत के बयान ने पार्टी के भीतर भूचाल खड़ा कर दिया है. कांग्रेस का कहना है कि रंजीत because रावत के हरीश रावत पर चुनाव के लिए तंत्र-मंत्र का सहारा लेने वाले आरोप निराधार हैं. ऑल इंडिया
समाज/संस्कृति

स्वयं सहायता समूह के जरिए पूर्ण हुआ स्वरोगार का स्वप्न

प्रकाश उप्रेती   पहाड़ हमेशा आत्मनिर्भर रहे हैं. पहाड़ों के जीवन में निर्भरता का अर्थ सह-अस्तित्व है. यह सह-अस्तित्व का संबंध उन संसाधनों के साथ है जो पहाड़ी जीवनचर्या के because अपरिहार्य अंग हैं. इनमें जंगल, जमीन, जल, जानवर और जीवन का कठोर परिश्रम शामिल है. इधर अब गांव में कई तरह की योजनाओं के […]
जल विज्ञान

पहाड़ों में जल परम्परा : आस्था और विज्ञान के आयाम

डॉ. मोहन चंद तिवारी दिल्ली विश्वविद्यालय के रामजस कॉलेज से एसोसिएट प्रोफेसर के पद से सेवानिवृत्त हैं। वैदिक ज्ञान-विज्ञान के गहन अध्येता, प्रो.तिवारी कई वर्षों से जल संकट को लेकर लिखते रहे हैं। जल-विज्ञान को वह वैदिक ज्ञान-विज्ञान के जरिए समझने और समझाने की कोशिश करते हैं। उनकी चिंता का केंद्र पहाड़ों में सूखते खाव, […]
साहित्यिक हलचल

लॉक डाउन से पहले मिले बड़े लेखक का बड़ा इंटरव्यू

ललित फुलारा धैर्य से पढ़ना पिछली बार हिमांतर पर आपने ‘ईमानदार समीक्षा’ पढ़ी होगी. अब वक्त है ‘बड़े लेखक’ का साक्षात्कार पढ़ने का. लेखक बहुत बड़े हैं. धैर्य से पढ़ना. लेखक बिरादरी की बात है. तीन-चार पुरस्कार झटक चुके हैं. राजनीतिज्ञों के बीच ठीक-ठाक धाक है. सोशल मीडिया पर चेलो-चपाटों की भरमार. संपादकों से ठसक […]