अल्‍मोड़ा

‘विश्व तंबाकू निषेध दिवस’ पर व्याख्यान सह निबंध प्रतियोगिता का आयोजन

‘विश्व तंबाकू निषेध दिवस’ पर व्याख्यान सह निबंध प्रतियोगिता का आयोजन

अल्‍मोड़ा
मानिला (अल्मोड़ा). राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय कुणीधार, मानिला, अल्मोड़ा उत्तराखण्ड में एंटी ड्रग एवं धूम्रपान निषेध प्रकोष्ठ के अंतर्गत 'विश्व तंबाकू निषेध दिवस' के अवसर पर व्याख्यान सह निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया. कार्यक्रम की अध्यक्षता महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो. नरेन्द्र कुमार द्वारा की गई. उन्होंने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए, इस वर्ष की विश्व तंबाकू निषेध दिवस की थीम 'हमें भोजन की आवश्यकता है, तंबाकू की नहीं' पर विस्तार से अपना विचार प्रस्तुत किया. उन्होंने कहा कि भोजन मनुष्य को उसके दैनिक जीवन के कार्यों हेतु ऊर्जा एवं पोषक तत्व प्रदान करता है, जबकि तंबाकू व अन्य नशीले पदार्थ मनुष्य को उसकी मृत्यु की ओर अग्रसर करते हैं. चुनाव हमारा है कि हम जीवन चाहते हैं या मृत्यु. इसी क्रम में एंटी ड्रग एवं धूम्रपान निषेध प्रकोष्ठ की नोडल अधिकारी डॉ...
लोक संस्कृति एवं लोकपरम्पराओं को बढावा देते हैं मेले और कौथिग: सीएम पुष्कर सिंह धामी

लोक संस्कृति एवं लोकपरम्पराओं को बढावा देते हैं मेले और कौथिग: सीएम पुष्कर सिंह धामी

अल्‍मोड़ा
मुख्यमंत्री ने की ऐतिहासिक सोमनाथ मेले के लिये 05 लाख रुपये की घोषणा सोमवार को ऐतिहासिक सोमनाथ मेला मासी-2023 में प्रतिभाग करते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमनाथ मेले को 05 लाख रूपये प्रदान करने की घोषणा की. उन्होंने कहा कि हमारी संस्कृति एवं सभ्यता महान है इसमें निरंतरता है. सदियों से इस महान संस्कृति की महानता के विषय में आम लोगों को जागरूक करने का काम मेले और कौथिग करते रहे हैं. सोमनाथ का यह ऐतिहासिक मेला भी इसी का उदाहरण है. कत्यूरकाल से देवाधिदेव शिव को प्रत्येक गांव से नई फसल भेंट करने की चली आ रही अनूठी परंपरा इस मेले को विशिष्ट बनाती है. हमारी प्राचीन सांस्कृतिक विरासत के संरक्षण में भी ये मेले अहम भूमिका निभाते हैं. मेले हमारे समाज को जोड़ने तथा हमारी प्राचीन संस्कृति और परम्पराओं के बारे में नई पीढ़ी को जागरूक करने में भी अपनी अहम भूमिका निभाते हैं. सीएम ने द्वाराहाट विध...
विलक्षण प्रतिभा के धनी थे स्व. हेमवती नंदन बहुगुणा : मुख्यमंत्री

विलक्षण प्रतिभा के धनी थे स्व. हेमवती नंदन बहुगुणा : मुख्यमंत्री

अल्‍मोड़ा
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एवं पूर्व मुख्यमंत्री स्व. हेमवती नन्दन बहुगुणा की जयन्ती पर किया भावपूर्ण स्मरण मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को अल्मोड़ा में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एवं पूर्व मुख्यमंत्री स्व. हेमवती नन्दन बहुगुणा की 104वीं जयंती के अवसर पर जनसेवा आधारित बहुद्देशीय शिविर एवं कृषक महोत्सव कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए स्व. हेमवती नन्दन बहुगुणा को विलक्षण प्रतिभा का धनी बताया. इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने 256.75 करोड की विभिन्न विकास योजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण किया. जिसमें 217.75 करोड की योजनाओं का शिलान्यास तथा 39 करोड की योजनाओं का लोकार्पण सामिल है. उन्होंने कहा कि स्व. हेमवती नन्दन बहुगुणा का स्वतंत्रता संग्राम से लेकर आजादी के बाद देश को और विशेष रूप से अविभाजित उत्तर प्रदेश को आगे बढ़ाने में उनका अमूल्य योगदान रहा. उन्होंने अ...
सल्ट के राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय कुणीधार, मानिला अल्मोड़ा में जी-20 कार्यक्रम के अंतर्गत निबंध प्रतियोगिता का आयोजन

सल्ट के राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय कुणीधार, मानिला अल्मोड़ा में जी-20 कार्यक्रम के अंतर्गत निबंध प्रतियोगिता का आयोजन

अल्‍मोड़ा
सल्ट - अल्मोड़ा जिले के विकास खंड सल्ट के राजकीय स्नातकोत्तर कुणीधार, मानिला, अल्मोड़ा उत्तराखण्ड के अंतर्गत G-20 कार्यक्रम के अंतर्गत निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया. इस कार्यक्रम की अध्यक्षता महाविद्यालय के संरक्षक व प्राचार्य डॉ. नरेंद्र कुमार द्वारा की गई. उन्होंने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए G-20 विषय पर विस्तार से अपनी बात रखी. निबंध प्रतियोगिता का विषय वैश्विक अर्थव्यवस्था पर भारत का प्रभाव, नवीकरणीय ऊर्जा नये आयाम और जैविक खेती द्वारा आत्मनिर्भरता था. निबंध प्रतियोगिता का निर्णय, निर्णायक मंडल डॉ. रवींद्र कुमार मिश्र एवं डॉ. धर्मेंद्र यादव द्वारा दिया गया. निबंध प्रतियोगिता के अंतर्गत एम. ए हिंदी प्रथम सत्रार्ध से राकेश कोहिली ने प्रथम स्थान, एम. ए तृतीय सत्रार्ध से खुशबू ने द्वितीय स्थान, एम.ए तृतीय सत्रार्द्ध से बबीता द्वारा तृतीय स्थान प्...
ड्रग फ्री देवभूमि के लिए दिलवाया संकल्प!

ड्रग फ्री देवभूमि के लिए दिलवाया संकल्प!

अल्‍मोड़ा
राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय कुणीधार में नशा मुक्त उत्तराखंड कार्यक्रम का आयोजन  हिमांतर ब्यूरो, मानिला (अल्मोड़ा)    एंटी ड्रग सेल, राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय कुणीधार, मानिला, अल्मोड़ा उत्तराखण्ड के अंतर्गत नशा मुक्त उत्तराखण्ड कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इस कार्यक्रम की अध्यक्षता महाविद्यालय के संरक्षक व प्राचार्य डॉ. नरेंद्र कुमार द्वारा की गई. उन्होंने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए अपने जीवनानुभवों के आधार पर नशे से उत्पन्न समस्याओं व छात्र जीवन पर उसके दुष्प्रभाव विषय पर विस्तार से अपनी बात रखी. कार्यक्रम के अंतर्गत राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय कुणीधार, मानिला अल्मोड़ा और राजकीय इंटर कॉलेज झीपा के छात्रों द्वारा संयुक्त रूप से नशे के जीवन पर दुष्प्रभाव विषय पर नाटक का मंचन किया गया. इस नाटक का लेखन व निर्देशन राजकीय स्नातकोत्तर महावि...
मूली की ‘थिचवानी’: एक स्वादिष्ट पहाड़ी व्यंजन 

मूली की ‘थिचवानी’: एक स्वादिष्ट पहाड़ी व्यंजन 

अल्‍मोड़ा, हिमालयन अरोमा
डॉ. मोहन चंद तिवारी अपने गांव जोयूं जब भी जाता हूँ तो मूली की थिच्वानी मुझे बहुत पसंद है. हमारे पड़ोस के गांव मंचौर की मूली की तो बात ही और है. दिल्ली जब आता हूं तो पहाड़ की मूली लाना कभी नहीं भूलता. सर्दियों में तो यह मूली की थिच्वानी स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभकारी है. मूली तो मैदानों की भी बहुत लाभकारी है किंतु पहाड़ों की शलगमनुमा मूली की बात ही कुछ और है. इसमें हिमालय की वनौषधि के गुण समाविष्ट रहते हैं जो मैदानों में कैमिकल खाद से पैदा हुई मूली में नहीं मिलते. हमारे इलाके मंचौर की मूली इस दृष्टि से भी बहुत प्रसिद्ध है कि वहां की ताजी-ताजी मूली मिलती बड़ी मुश्किल से है क्योंकि पैदा ही बहुत कम होती है.आज मैं अपने इस लेख द्वारा पहाड़ी मूली से बनने वाली सब्जी 'थिचवानी' पर कुछ जानकारी शेयर करना चाहुंगा. कुमाऊं के स्थानीय व्यंजनों में एक स्थानीय कहावत है मनुवौ रवॉट, झुंगरौ भात, मुअकि...
‘नशा मुक्त भारत अभियान’ के अंतर्गत विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन

‘नशा मुक्त भारत अभियान’ के अंतर्गत विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन

अल्‍मोड़ा
राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय कुणीधार, मानिला अल्मोड़ा (उत्तराखंड) के तत्वावधान में ‘नशा मुक्त भारत अभियान’ के अंतर्गत विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया. इस कार्यक्रम की अध्यक्षता महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ. जया पांडे द्वारा की गयी. प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में उन्होंने व्यक्ति जीवन में नशे के दुष्प्रभाव एवं इससे कैसे स्वयं व समाज को बचा सकते हैं? विषय पर विस्तार से अपनी बात रखी. इस कार्यक्रम के अंतर्गत ‘क्या मादक द्रव्यों के सेवन की लत: एक बीमारी है या एक शौक?’ विषय पर भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया. इस प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल के रूप में डॉ. गोरखनाथ,असिस्टेंट प्रोफेसर अर्थशास्त्र, डॉ. शैफाली सक्सेना, असिस्टेंट प्रोफेसर वनस्पति विज्ञान एवं डॉ. संतोष पंसारी असिस्टेंट प्रोफेसर, राजनीति विज्ञान उपस्थित रहे. निर्णायक मंडल ने छात्र-छात्राओं के आ...
हिमालय बचाओ : डॉ. जया पांडे ने दिलाई हिमालय संरक्षण की प्रतिज्ञा

हिमालय बचाओ : डॉ. जया पांडे ने दिलाई हिमालय संरक्षण की प्रतिज्ञा

अल्‍मोड़ा
‘हिमालय बचाओ पॉलीथिन हटाओ’ नारे के साथ ली प्रतिज्ञा अल्मोड़ा. राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय कुणीधार मानिला अल्मोड़ा (उत्तराखंड) के तत्वावधान में हिमालय दिवस कार्यक्रम आयोजन किया गया. डॉ. जया पांडे, प्राचार्य, राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय कुणीधार, मानिला, अल्मोड़ा द्वारा महाविद्यालय के समस्त छात्र-छात्राओं, प्राध्यापकों तथा कर्मचारी वर्ग को संबोधित करते हुए, ‘हिमालय दिवस’ मनाए जाने के पीछे के कारणों पर विस्तार से अपना विचार व्यक्त किया गया. मैं प्रतिज्ञा करता हूं/ करती हूं कि मैं हिमालय की रक्षा का हर संभव प्रयास करूंगा/ करूंगी. ऐसा कोई काम नहीं करूंगा/ करूंगी, जिससे हिमालय को क्षति पहुंचे. डॉ. पांडे ने समस्त महाविद्यालय परिवार को "हिमालय बचाओ पॉलीथिन हटाओ" नारे के साथ हिमालय की हर संभव सुरक्षा व निजी प्रयास द्वारा संरक्षण करने की प्रतिज्ञा दिलाई- "हिमालय हमारे देश का मस्तक है. व...
पांच दिवसीय ‘शिक्षक पर्व’ में ऑनलाइन व ऑफलाइन व्यवस्था पर चर्चा

पांच दिवसीय ‘शिक्षक पर्व’ में ऑनलाइन व ऑफलाइन व्यवस्था पर चर्चा

अल्‍मोड़ा
महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ. जया पांडे की अध्यक्षता में पांच दिवसीय 'शिक्षक पर्व' समाप्त अल्मोड़ा. राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय कुणीधार, मानिला अल्मोड़ा (उत्तराखंड) के तत्वावधान में पांच दिवसीय 'शिक्षक पर्व' का आयोजन किया गया. पांच दिवसीय 'शिक्षक पर्व' के समापन सत्र की अध्यक्षता महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ. जया पांडे द्वारा किया गया. अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में उन्होंने छात्रों से शिक्षा की ऑनलाइन व ऑफलाइन व्यवस्था पर विस्तार से चर्चा की. पाँच दिवसीय ‘शिक्षक पर्व’ कार्यक्रम के समापन सत्र के अंतर्गत वाद-विवाद प्रतियोगिता: ऑनलाइन एवं ऑफ़लाइन शिक्षा पक्ष/विपक्ष का आयोजन किया गया. निर्णायक मंडल, डॉ. रेखा, असिस्टेंट प्रोफेसर, राजनीति विज्ञान, डॉ. रवीन्द्र कुमार मिश्रा, असिस्टेंट प्रोफेसर, संस्कृत, डॉ. धर्मेन्द्र यादव, असिस्टेंट प्रोफेसर, इतिहास द्वारा संक्षिप्त रूप से वाद-विवाद प्रतियोग...
राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, मानिला के तत्वावधान में पांच दिवसीय ‘शिक्षक पर्व’ का शुभारंभ

राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, मानिला के तत्वावधान में पांच दिवसीय ‘शिक्षक पर्व’ का शुभारंभ

अल्‍मोड़ा
हिमांतर संवाददाता, अल्मोड़ा राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय कुणीधार, मानिला, अल्मोड़ा (उत्तराखण्ड) के तत्वावधान में पांच दिवसीय ‘शिक्षक पर्व’ का शुभारंभ किया गया. पांच दिवसीय शिक्षक पर्व के उद्घाटन सत्र में विचार गोष्ठी एवं  सह-नवागंतुक स्वागत समारोह की अध्यक्षता महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ. जया पांडे द्वारा की गयी. अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में उन्होंने छात्रों को डॉ. सर्वपल्ली राधा कृष्णन के जीवन प्रसंग पर विस्तार से बताया तथा शिक्षा, शिक्षक और छात्र संबंध पर भी अपने विचार प्रस्तुत किए. इसी क्रम में डॉ. जया पांडे ने नवागंतुक छात्रों का महाविद्यालय परिवार में स्वागत भी किया. उद्घाटन सत्र के प्रथम चरण ‘विचार गोष्ठी’ में वक्ता के रूप में डॉ. रेखा, सहायक प्राध्यापिका, राजनीति विज्ञान विभाग व डॉ. धर्मेन्द्र यादव, सहायक प्राध्यापक, इतिहास विभाग ने शिक्षक दिवस का इतिहास, शिक्षा के विस्तार मे...