Home Posts tagged सरस्वती
धर्मस्थल

सुखादेवी: शुकवती का उद्गम व सरस्वती का संगम स्थल

कुमाऊं क्षेत्र के उपेक्षित मन्दिर – 4  डॉ. मोहन चंद तिवारी द्वाराहाट में गर्ग आश्रम से निकलने वाली गार्गी नदी गगास के पौराणिक इतिहास के बारे में तो सब जानते हैं किंतु ‘सुखादेवी’ (Sukhadevi) आश्रम से निकलने वाली इस नदी की बड़ी बहिन गुमनाम ‘शुकवती’ के बारे में कोई
लोक पर्व-त्योहार

वसन्त पंचमी : सारस्वत सभ्यता, समाराधना और साधना का पर्व

वसन्त पंचमी पर विशेष डॉ. मोहन चंद तिवारी आज वसंत पंचमी का दिन सारस्वत समाराधना का पावन दिन है.वसंत पंचमी को विशेष रूप से सरस्वती जयंती के रूप में मनाया जाता है. सरस्वती देवी का आविर्भाव दिवस होने के कारण यह because दिन श्री पंचमी अथवा वागीश्वरी जयंती के रूप में भी प्रसिद्ध है. प्राचीन […]
जल-विज्ञान

पहाड़ों में जल परम्परा : आस्था और विज्ञान के आयाम

डॉ. मोहन चंद तिवारी दिल्ली विश्वविद्यालय के रामजस कॉलेज से एसोसिएट प्रोफेसर के पद से सेवानिवृत्त हैं। वैदिक ज्ञान-विज्ञान के गहन अध्येता, प्रो.तिवारी कई वर्षों से जल संकट को लेकर लिखते रहे हैं। जल-विज्ञान को वह वैदिक ज्ञान-विज्ञान के जरिए समझने और समझाने की कोशिश करते हैं। उनकी चिंता का केंद्र पहाड़ों में सूखते खाव, […]