November 26, 2020
Home Posts tagged इजा
किस्से/कहानियां

अपेक्षायें

लघु कथा डॉ. कुसुम जोशी  “ब्वारी मत जाया करना रात सांझ उस पेड़ के तले से… अपना तो टक्क से becauseरस्सी में लटकी और चली गई, पर मेरे लिये और केवल’ के लिये जिन्दगी भर का श्राप छोड़ गई. श्राप तीन साल से एक रात भी हम मां बेटे चैन से नही सोये… but आंखें […]
लोक पर्व/त्योहार

“इजा मैंले नौणि निकाई, निखाई”

घृत संक्रान्ति 16 अगस्त पर विशेष डॉ. मोहन चंद तिवारी ‘घृत संक्रान्ति’ के अवसर पर समस्त देशवासियों और खास तौर से उत्तराखण्ड वासियों को गंभीरता से विचार करना चाहिए कि कृषिमूलक हरित क्रान्ति से पलायन करके आधुनिक औद्योगिक क्रान्ति के लिए की गई दौड़ ने हमें इस योग्य तो बना दिया है कि हम पहाड़ों […]