देहरादून

उत्तराखंड प्राकृतिक आपदा : ‘संकट की घड़ी’ में शाह के ‘भरोसे’ पर खरे उतरे धामी

हवाई सर्वेक्षण और उच्च स्तरीय बैठक में केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने प्रदेश में आपदा की स्थिति का लिया जायजा

  • हिमांतर ब्यूरो, देहरादून

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आपदा के समय ‘बचाव और राहत अभियान’ की कमान खुद संभालने पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की जमकर तारीफ की है. because उन्होंने कहा कि ‘केंद्र से जारी चेतावनी के बाद राज्य सरकार की तत्परता और सतर्कता से अतिवृष्टि के प्रभाव को काफी हद तक कम करने में सफलता मिली है. धामी संकट की घड़ी में पूरी तरह से खरे उतरे, उन्होंने स्थिति को बहुत अच्छे तरीके से संभाला’.

ज्योतिष

आपदा प्रभावित क्षेत्रों में बचाव और राहत में तेजी लाने के लिए मुख्यमंत्री धामी ने गढ़वाल से कुमाऊं तक कई तूफानी दौरे किए. पीड़ितों को ढांढस बंधाने में उन्होंने रात–दिन एक कर दिया. because हर पीड़ित के पास पहुंचने को वह आतुर दिखे. जलभराव के कारण कई जगहों पर उन्हें ट्रैक्टर में या फिर पैदल सफर करना पड़ा. रेस्क्यू में लगे एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, सेना, पुलिस और अग्निशमन दल के हजारों जवानों का मुख्यमंत्री ने ग्राउंड जीरो पर रहकर लगातार हौसला बढ़ाया. अभियान के बीच धामी को कई बार त्वरित निर्णय लेने पड़े, जिसमें उन्होंने वक्त बर्बाद नहीं किया. आपदा से प्रभावित हुए तीन जनपदों रुद्रप्रयाग, उधमसिंहनगर और नैनीताल की मुख्यमंत्री ने निरंतर मॉनिटरिंग की. जरूरत पड़ने पर अधिकारियों को सख्त निर्देश भी दिए.

ज्योतिष

आपदा के कठिन दौर में धामी ने शानदार नेतृत्व कौशल का प्रदर्शन किया. तमाम चैनलों, समाचार पत्रों और सोशल मीडिया में युवा मुख्यमंत्री की सराहना देखने को मिली. इसी बीच आपदा से हुए नुकसान का जायजा लेने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह उत्तराखण्ड पहुंचे. सीएम धामी एक साथ उन्होंने because अतिवृष्टि से प्रभावित इलाकों का दो घंटे तक हवाई दौरा किया. उसके बाद शाह ने केंद्र और राज्य सरकार के अधिकारियों व आपदा प्रबंधन में लगे लोगों के साथ उच्चस्तरीय बैठक में क्षति की विस्तृत जानकारी हासिल की.

केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने प्रदेश के आपदा प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण कर हालात का जायजा लिया. उनके साथ राज्यपाल उत्तराखंड ले.ज. (से.नि.) श्री गुरमीत सिंह, मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी, केन्द्रीय रक्षा राज्य मंत्री श्री अजय भट्ट, उत्तराखण्ड के आपदा प्रबंधन मंत्री डॉ धन सिंह रावत व राज्यसभा सांसद श्री अनिल बलूनी भी थे.

ज्योतिष

मीडिया से बातचीत में केंद्रीय गृह मंत्री ने भरोसा दिलाया कि इस मुसीबत के इस दौर में केंद्र सरकार पूरी तरह से देवभूमि के लोगों के साथ खड़ी है. उन्होंने कहा कि भारी because बारिश की चेतावनी मिलते ही मुख्यमंत्री धामी ने अयोध्या दौरे पर होने के बावजूद मुख्य सचिव को फोन करके समूचे सरकारी सिस्टम को सतर्क कर दिया. चारधाम यात्रा अस्थाई तौर पर रोक दी गई. सभी आपदा केंद्र एक्टिव कर दिए गए. अतिवृष्टि के तत्काल बाद मुख्यमंत्री धामी रेस्क्यू अभियान पर निकल गए. उन्होंने आपदा की घड़ी में बेहतरीन तरीके से रेस्पॉड किया.

ज्योतिष

शाह ने कहा कि समय पर because उठाए गए एहतियाती कदमों के कारण आपदा में ज्यादा नुकसान होने से बच गया. वरना, जानमाल की और ज्यादा हानि हो सकती थी. उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि सीएम धामी के दिशानिर्देशन में ‘बचाव और राहत’ अभियान की तर्ज पर प्रभावितों का पुनर्वास भी इसी गंभीरता के साथ होगा. केंद्र सरकार से बराबर अच्छे तालमेल और दूरभाष पर लगातार पीएम मोदी को अपडेट रखने को लेकर उन्होंने धामी को खूब सराहा.

Share this:

Himantar Uttarakhand

हिमालय की धरोहर को समेटने का लघु प्रयास

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *