साहित्यिक-हलचल

अमृतसर में राज्यपाल ने किया एनबीटी के पुस्तक मेले का उद्घाटन

पंजाब के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित और एनबीटी के निदेशक युवराज मलिक की उपस्थिति में हुआ मेले का शुभारम्भ, 5 मार्च से 13 मार्च 2022 तक चलेगा मेला

  • हिमांतर वेब डेस्क

खालसा कॉलेज, अमृतसर के सहयोग से आयोजित राष्ट्रीय पुस्तक ट्रस्ट, भारत का अमृतसर पुस्तक मेला 2022 का उद्घाटन 5 मार्च 2022 को पंजाब के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित और एनबीटी के निदेशक युवराज मलिक की उपस्थिति में किया गया. यह मेला 5 मार्च से 13 मार्च 2022 तक चलेगा.

पंजाब के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित ने अपने संबोधन में कहा कि देश की आजादी के साथ शुरू हुए विकास के सफर में एनबीटी समाज के हर वर्ग को जागरूक बनाने की दिशा में काम कर रहा है. एनबीटी ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अनुसार हर हाथ एक किताब पहल के तहत देश भर में किताबें भी वितरित की हैं. उन्होंने कहा, पुस्तक मेले न केवल विभिन्न प्रकार के साहित्य को सुलभ बनाते हैं बल्कि संस्कृति के आदान-प्रदान और सामाजिक एकीकरण के लिए एक मंच भी प्रदान करते हैं.

एनबीटी के निदेशक युवराज मलिक ने मेले के उद्घाटन के लिए राज्यपाल का आभार व्यक्त किया. उन्होंने कहा कि राष्ट्र के ज्ञान भागीदार के रूप में, एनबीटी देश भर में 55 से अधिक भारतीय भाषाओं में पाठकों को अच्छी गुणवत्ता वाला साहित्य प्रदान करके राष्ट्र निर्माण में योगदान दे रहा है. उन्होंने कहा कि मेले में आने वाले लोगों को सलाह दी कि वे अपने किसी प्रियजन को कम से कम एक पुस्तक उपहार में दें जैसे कि जब नागरिक पढ़ते हैं, तो देश अग्रणी होता है.

डॉ. आत्मा सिंह रंधावा, अध्यक्ष पंजाबी विभाग ने अपने स्वागत भाषण में अमृतसर पुस्तक मेले के आयोजन में खालसा कॉलेज के साथ अपने जुड़ाव को जारी रखने के लिए एनबीटी को धन्यवाद दिया. उन्होंने कहा कि इस डिजिटल युग में पुस्तकों के महत्व पर जोर देने और पढ़ने की संस्कृति स्थापित करने के लिए पुस्तक मेले एक आवश्यक घटना है. डॉ राजेंद्र मोहन सिंह चीना, मानद सचिव, खालसा चैरिटेबल ट्रस्ट सोसाइटी ने धन्यवाद प्रस्ताव दिया.

अमृतसर पुस्तक मेले का आयोजन 5 मार्च से 13 मार्च 2022 तक खालसा कॉलेज, अमृतसर में किया जा रहा है. लाखों पुस्तकों की प्रदर्शनी के अलावा, कई सांस्कृतिक कार्यक्रम, फूल शो, कार्यशालाएं और साहित्यिक गतिविधियां जिनमें सेमिनार और चर्चाएं शामिल हैं, प्रमुख आकर्षण होंगे.

मेले में प्रवेश निःशुल्क है और इसका समय सुबह 10 से शाम 7 बजे तक है. मेले में एनबीटी अपनी सभी पुस्तकों पर 10 प्रतिशत की छूट भी प्रदान कर रहा है.

Share this:

Himantar Uttarakhand

हिमालय की धरोहर को समेटने का लघु प्रयास

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *