देहरादून

भ्रष्टाचार भी विशेषाधिकार है: सुनो मेरे राज्य के नौजवानो

प्रकाश उप्रेती

पर्वतीय राज्य का सपना देखने वाले लोग भी किस मिट्टी के बने होंगे न! इस राज्य के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले लोगों का सपना क्या होगा, कैसी दृढ़ता उनके विचारों में होगी? क्या ये प्रश्न आपके दिमाग में नहीं आते because हैं. तब भी नहीं आते जबकि यह राज्य संसाधनों की लूट से लेकर सपनों की लूट में गर्दन तक डूब चुका है. आपको नहीं लगता है कि इस राज्य के लिए शहीद हुए लोगों के सपनों को हमने 22 वर्षों में ही मिट्टी में मिला दिया है. ऐसा राज्य देखने के लिए  हमारे लोगों ने गोली खाई होगी ? इसके लिए लड़े होंगे!

कल 1 सितंबर को खटीमा गोलीकांड और आज 2 सितंबर को मसूरी गोलीकांड में शहीद हुए लोगों को हम याद कर रहे हैं. परन्तु आज हम अपने शहीदों की शहादत को भूलते जा रहे हैं. उस सपने को हम भूल रहे हैं जो उन्होंने उत्तराखंड राज्य के लिए देखा था.

ज्योतिष

राज्य का दुर्भाग्य यह है कि यहाँ because अदला- बदली की सरकारों ने उत्तराखंड को खण्ड-खण्ड कर दिया है. आज उत्तराखंड भ्रष्टाचार का अड्डा बन गया है. यहाँ हर विभाग और हर नेता के बगल में एक हाकम सिंह बैठा है. हाकम व्यक्ति नहीं प्रवृत्ति बन चुकी है. यह प्रवृत्ति नीचे से लेकर ऊपर तक व्याप्त है.

ज्योतिष

गिर्दा ने लिखा न-

खटीमा, मसूरी मुजेफरें कें, because हम के भूलि जूलो.
हम लड़ते रयां बैणी , हम लड़ते because रूलो.

हम लड़ते रुला, चेली हम लड़ते रूलो.
कस होलो because उत्तराखंड, कस हमारा नेता.

ज्योतिष

कसी होली because विकास नीति, कसी होली ब्यवस्था.
जड़ी कंजड़ी because उखेलि भलीके, पूरी बहस करूलो..
हम लड़ते रुला, चेली हम because लड़ते रूलो..

ज्योतिष

आज फिर से जरूरत ‘जड़ी कंजड़ी’ because उखेलि के ‘पूरी बहस’ करने की है. यह बहस उस युवा पीढ़ी को करनी है जिनके भविष्य का यह राज्य है.

ज्योतिष

राज्य का दुर्भाग्य यह है कि यहाँ अदला- बदली की because सरकारों ने उत्तराखंड को खण्ड-खण्ड कर दिया है. आज उत्तराखंड भ्रष्टाचार का अड्डा बन गया है. यहाँ हर विभाग और हर नेता के बगल में एक हाकम सिंह बैठा है. हाकम व्यक्ति नहीं प्रवृत्ति बन चुकी है. यह प्रवृत्ति नीचे से लेकर ऊपर तक व्याप्त है. आज कई हाकम तो विधान सभा में चुन कर because बैठे हैं. वह बड़ी बेशर्मी से भ्रष्टाचार को प्रक्रिया और विशेषाधिकार बता रहे हैं. अब भी इनकी पहचान नहीं कि गई और इस प्रवृत्ति के खिलाफ नहीं लड़ा गया तो यह सबकुछ खत्म कर देंगे. फिर यह राज्य नक्शे पर बनी लकीरें भर रह जाएगा.

सीएमआइई की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक वर्तमान में उत्तराखंड की बेरोजगारी दर 5.3 प्रतिशत है. इस समय प्रदेश में बेरोजगारों की संख्या तकरीबन आठ लाख 39 हजार 697 है. इन हालातों के बावजूद सरकार उत्तराखंड की जवानी के भविष्य के साथ खेल रही है.

ज्योतिष

आज अगर प्रदेश का युवा because सड़कों पर अपने हक, सपनों, अधिकार,  मुस्तकबिल और भविष्य के लिए नहीं निकला तो कल को ये नेता पेपर लीक करवाने को भी विशेषाधिकार घोषित कर देंगे. तब क्या करोगे? UKSSSC पेपर लीक के मामले से लेकर विधानसभा में भर्ती घोटाले तक में इस बेशर्मी को हमने देख ही लिया है.

ज्योतिष

सेंटर फार मानीटरिंग इंडियन because इकोनामी (सीएमआइई) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक वर्तमान में उत्तराखंड की बेरोजगारी दर 5.3 प्रतिशत है. इस समय प्रदेश में बेरोजगारों की संख्या तकरीबन आठ लाख 39 हजार 697 है. इन हालातों के बावजूद सरकार उत्तराखंड की जवानी के भविष्य के साथ खेल रही है.

ज्योतिष

इस खेल को रोकने के लिए becauseआपको ही सड़कों पर निकलना होगा. नहीं तो ये जवानी लाइब्रेरी में, खेतों में, डन- खनो में, गधेरों में, उत्तरकाशी में, देहरादून के तंग कमरों में, अल्मोड़ा में, पिथौरागढ़ में, टिहरी में, चंपावत में, चमोली में, नैनीताल में तैयारी करती रहेगी और इधर सरकार द्वार पोषित कोई हाकम सिंह आएगा और आपकी मेहनत पर पानी फेर देगा, आपके सपनों को चकनाचूर कर देगा , आपके भविष्य को अंधकार में धकेल देगा.

फैसला अब आपको करना है?…

ज्योतिष

(डॉ. प्रकाश उप्रेती दिल्ली विश्वविद्यालय में असिस्टेंट प्रोफेसर एवं हिमांतर पत्रिका के संपादक हैं और
पहाड़ के सवालों को लेकर हमेशा मुखर रहते हैं.)

Share this:

Himantar Uttarakhand

हिमालय की धरोहर को समेटने का लघु प्रयास

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *