Tag: Uttarakhand Tourism

उत्तराखंड को मिला बेस्ट टूरिज्म डेस्टिनेशन अवार्ड

उत्तराखंड को मिला बेस्ट टूरिज्म डेस्टिनेशन अवार्ड

देहरादून
मसूरी व नैनीताल में दिसंबर 2022 में आयोजित होगे विंटरलाइन कार्निवाल! उत्तराखंड को ये पुरस्कार मिलने पर सतपाल महाराज ने समस्त प्रदेशवासियों और पर्यटन उद्योग से जुड़े लोगों को बधाई दी. उन्होंने कहा कि यह सम्मान उत्तराखंड के लिए गौरव की बात है. उत्तराखंड राज्य देश-विदेश के सैलानियों को प्रदेश में आने का निमंत्रण देता है जहां पर्यटन की सभी श्रेणियों में हर प्रकार की सुविधाएं और अवसर उपलब्ध हैं. मंगलवार को ही मसूरी में हेलीकॉप्टर के माध्यम से हिमालय दर्शन की सेवा का भी शुभारंभ किया गया है. सतपाल महाराज ने कहा “पर्यटन विभाग उत्तराखंड में पर्यटकों को आकर्षित करने वाली कई परियोजनाओं पर काम कर रहा है. उन्होंने कहा कि उत्तराखंड को मिले दोनों पुरस्कार यह सिद्ध करते हैं कि प्रदेश को लेकर पर्यटकों के बीच लोकप्रियता निरंतर बढ़ रही है. महाराज ने कहा कि हिमालय दर्शन सेवा शुरू होने से प्रदेश में पर्यटकों क...
उत्तराखंड में पर्यटन से रोजगार की अपार संभावनाएं!

उत्तराखंड में पर्यटन से रोजगार की अपार संभावनाएं!

ट्रैवलॉग
आशिता डोभाल यूं तो हमारे पहाड़ों में because ऊपर वाले ने हर एक चीज को इतनी खूसूरती से बनाया है जिसकी सुंदरता को दर्शाने के लिए शब्दकोश के शब्द भी कम पड़ जाते हैं या यूं कहें की ऊपर वाले ने कुछ चीजों को मानो सोच विचार कर बनाया हो बस कमी है तो मानव सभ्यता की जो उन चीज़ों को ज्यों का त्यों नहीं रख सकती है. पर्यटन राज्य का दर्जा भर मिलने से हम खुश हो जाते हैं और अपने को गौरवान्वित महसूस करने लगते हैं और हम लोगों की लगातार कोशिशें भी रहती हैं कि हम बाहर से आने वाले पर्यटकों को लुभाने का प्रयास समय—समय पर अलग—अलग तरीकों से करते आए हैं, पर so अफसोस की बात है कि बहुत सारी चीजें अभी भी हमारे पर्यटन के लिहाज से अछूती हैं. कहने का तात्पर्य यह है कि संस्कृति सम्पन्न प्रदेश आज भी संस्कृति को बचाने की कवायद करने को मजबूर है. पयर्टन की अपार संभावनाएं होने के बावजूद भी आज कई जगहों को पर्यटक मानचि...
अलौकिक प्राकृतिक सुंदरता का खजाना-बण्डीधूर्रा ट्रैक

अलौकिक प्राकृतिक सुंदरता का खजाना-बण्डीधूर्रा ट्रैक

पर्यटन
कम और ना जाने, जाने वाले ट्रैंकिंग रूट – पार्ट-1 जे. पी. मैठाणी ऋषिकेश-बद्रीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर लगभग 1300 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है पर्यटक स्थल पीपलकोटी। पीपलकोटी को एक वर्ष पूर्व ही नगर पंचायत बनाया गया। इसकी उत्तर पश्चित दिशा में अलकनन्दा नदी है और इसके आसपास विस्तारित है एक बड़ी घाटी जिसमें कई ग्राम पंचायत हैं। हालांकि पीपलकोटी को बद्रीनाथ एवं हेमकुण्ड का प्रमुख पड़ाव माना जाता है लेकिन बहुत कम लोगों को पता है कि पीपलकोटी के आसपास कई शानदार रोचक कम जाने जाने वाले ट्रैकिंग रूट्स हैं। इन्हीं में से एक बेहद रोमांचक थोड़ा कठिन लेकिन शानदार ट्रैकिंग रूट है पीपलकोटी बण्डीधूर्रा लाॅर्ड कर्जन पास ट्रैक। पीपलकोटी में बायोटूरिज़्म पार्क से नौरख, सल्ला-सोड़ियाणी तक ट्रैकिंग रूट सामान्य है और अधिकतर गाँव के बीच से होकर गुजरता है। सल्ला-सोड़ियाणी तक बीच में पानी के जल स्रोत हैं लेकिन स...