दु:खद खबर : आतंकियों से लोहा लेते हुए देवभूमि का लाल शहीद

0
11
  • आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान देश के दुश्मनों से लोहा लेते हुए नैनीताल का जवान शहीद
  • आतंकियों के साथ जम्मू-कश्मीर के राजौरी में चल रही थी मुठभेड़

नैनीताल: देवभूमि के लिए दुखद खबर है। जम्मू-कश्मीर के राजौरी में आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान देश के दुश्मनों से लोहा लेते हुए नैनीताल का जवान शहीद हो गया। परिजनों को सूचना मिलने के बाद घर में कोहराम मचा हुआ है। क्षेत्र में शोक की लहर है। आतंकियों के साथ जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में बुधवार को सुरक्षाबलों की मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ में उत्तराखंड में नैनीताल के नैनीताल के खैरना निवासी संजय ने देश की सुरक्षा के लिए अपने प्राण न्योछावर किये हैं। संजय कश्मीर के राजौरी क्षेत्र में दुश्मनों का सामना करते हुए शहीद हुए हैं।

संजय की शहादत के बाद परिवार में कोहराम मचा हुआ है। संजय की शहादत की खबर सुनकर आसपास के गांव के लोग उनके घर में जुटना शुरू हो गए हैं। संजय के भाई नीरज बिष्ट ने बताया सेना के अधिकारियों ने उनके 28 वर्षीय भाई संजय की शहादत की जानकारी दी। आज शाम तक संजय का पार्थिव शरीर नैनीताल के खैरना स्थित उनके पैतृक घर पहुंच जाएगा। शहादत की खबर सुनते ही उनके परिवार में कोहराम मच गया। संजय के रिश्तेदार और आसपास के ग्रामीणों का उनके घर में जमावड़ा हो गया।

संजय के भाई नीरज बिष्ट ने बताया कि संजय 2012 में आर्मी में भर्ती हुआ था। कल रात ही उसकी परिवार से फोन पर बात हुई थी। संजय 15 दिन पहले ही घर से पोस्ट पर वापस लौटा था। संजय के परिवार में पिता दीवान सिंह बिष्ट, माँ मंजू बिष्ट, बहन ममता बिष्ट, विनीत बिष्ट हैं। अविवाहित संजय की राजौरी जिले में आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ हो गई। इस दौरान सेना के 2 कैप्टन समेत चार जवान शहीद हो गए। जिसमे उनका भाई भी है। सर्च ऑपरेशन के दौरान धर्मसाला के बाजीमल इलाके में आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ शुरू हुई। घायलों को इलाज के लिए उधमपुर ले जाया गया था।

जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ हो गई. इस दौरान सेना के 2 कैप्टन समेत चार जवान शहीद हो गए. जम्मू-कश्मीर पुलिस के मुताबिक कल सुबह 9 बजे सेना को आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी. इसके बाद सर्च ऑपरेशन चलाया गया. एनकाउंटर में सेना के 2 कैप्टन और दो जवान शहीद हो गए हैं।

सर्च ऑपरेशन में सेना के राष्ट्रीय राइफल्स के जवानों के साथ पैराट्रूपर्स भी शामिल हुए. लेकिन आतंकी घात लगाकर बैठे थे. जैसे ही सेना उन आतंकियों के नजदीक पहुंची, वैसे ही आतंकियों की ओर से सेना पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू हो गई. इसमें सेना के 2 कैप्टन रैंक के अफसर और एक जवान शहीद हो गए. सेना का एक जवान घायल हो गया था. घायल जवान को इलाज के लिए उधमपुर ले जाया गया था। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here