कोटद्वार : शहीद गौतम को अंतिम सलामी देने उमड़ा सैलाब, मार्च में होनी थी शादी

0
7
  • शहीद हुए कोटद्वार निवासी गौतम सिंह का पार्थिव शरीर हेलीकॉप्टर से पहुंचा कोटद्वार।
  • ग्रास्टनगंज स्थित हेलीपेड में शहीद को श्रद्धांजलि देने के लिए डीएम,एसएसपी समेत प्रशासनिक अधिकारी रहे मौजूद।
  • शहीद के अंतिम दर्शन के लिए हजारों की संख्या लोग पहुंचे शहीद के आमपड़ाव स्थित घर

कोटद्वार :जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले के काफलियान इलाके में सेना के दो वाहनों पर आतंकियों ने हमला कर दिया था, जिसमें 5 जवान शहीद हो गए थे। हमले में चमोली और कोटद्वार के जवान शहीद हो गए थे। दोनों जवानों के पार्थिव शरीर आज उनके गांव पहुंचे। जहां दोनों जवानों को अंतिम सलामी देने हजारों की संख्या में लोग पहुंचे। उससे पहले जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी पुष्पचक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।

कोटद्वार के जौनपुर निवासी शहीद जवान गौतम कुमार का पार्थिव शरीर भी आज कोटद्वार पहुंचा। शहीद गौतम का पार्थिव शरीर सेना के हेलीकाप्टर से सोमवार कों कोटद्वार पहुंचा, जहां से सेना की गाड़ी से उनका पार्थिव शरीर उनके जौनपुर स्थित आवास लाया गया।

इस दौरान हजारों की संख्या में कोटद्वार वासियों नें शहीद गौतम कुमार को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की। इस दौरान बड़ी संख्या में सैन्यकर्मी, जिला प्रशासन के अधिकारियों सहित विधानसभा अध्यक्ष भी मौजूद रहीं।

अंतिम सलामी के दौरान पूरी कण्वनगरी भारत माता के जयकारों से गूंज उठी। भारत माता के जयकारे भी लगे। लोगों में गुस्सा भी देखा गया। पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारों के साथ सैनिकों की सहायता का बदला लेने की मांग भी उठी।

गौतम वर्ष 2014 में सेना के 89 आर्म्ड कोर में भर्ती हुए थे। वह पिछले दो साल से जम्मू कश्मीर के पुंछ सेक्टर में तैनात थे। एक दिसंबर को ही वह 15 दिन की छुट्टी पर घर आया था और 16 दिसंबर को फिर ड्यूटी ज्वाइन की थी।

सितंबर में उसकी सगाई ऋषिकेश में हुई थी, पूरा परिवार शादी को लेकर उत्साहित था। लेकिन, बृहस्पतिवार रात 12:30 बजे सेना के अधिकारियों ने फोन पर उन्हें गौतम के बलिदान की खबर दी, जिससे पूरे परिवार सदमे में है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here