अंतराष्ट्रीय जैव विविधता दिवस, 2021 पर यूसर्क द्वारा ऑनलाइन कार्यक्रम आयोजन

  • हिमांतर ब्यूरो, देहरादून

अंतराष्ट्रीय जैवविविधता दिवस के उपलक्ष्य में उत्तराखण्ड विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान केन्द्र (यूसर्क) (Uttarakhand Science Education & Research Centre) द्वारा because एक ऑनलाइन कार्यक्रम का आयोजन किया गया. कार्यक्रम की समन्वयक यूसर्क की वैज्ञानिक डा. मंजू सुन्दरियाल के द्वारा जैव विविधता दिवस को मनाने के महत्व पर प्रकाश डाला एवं समस्त प्रतिभागियों कास्वागत किया गया.

यूसर्क

यूसर्क की निदेशक प्रो (डा.) अनीता रावत ने अपने संबोधन द्वारा जैवविविधता के सरंक्षण हेतु शिक्षा, शोध एवं तकनिकी के उपयोग को आवश्यक बताया एवं विद्यार्थियों का योगदान एक सतत because विकास की प्रक्रिया में महत्वपूर्ण हो सकता है. उन्होंने कहा की यूसर्क संस्था पूरे प्रदेश में पर्यावरण सरंक्षण के साथ विज्ञान शिक्षा एवं शोध को दूरस्थ क्षेत्रों तक ले जाने का कार्य किया जा रहा है. उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया की सभी को अपने अपने स्तर से पर्यावरण बचाने के प्रयास कर आम जनमानस से जोड़ना चाहिए.

अनीता रावत

कार्यक्रम में मुख्य व्याख्यानकर्ता पदमश्री कल्याण सिंह रावत द्वारा उत्तराखंड की जैवविविधता पर विस्तृत व्याख्यान दिया गया जिसमें उन्होंने जैवविविधता पर पड़ने वाले खतरों के प्रति because आगाह किया एवं प्रकृति के सरंक्षण को अति महत्वपूर्ण बताया.  साथ ही उन्होंने इसके सरंक्षण के लिए किसी एक की जिम्मेवारी न होकर प्रत्येक मनुष्य की जिम्मेवारी को आवश्यक बताया. उन्होंने उत्तराखंड राज्य की जैवविविधता, बुग्यालों राष्ट्रीय पार्कों, नदियों के सरंक्षण, औषधीय एवं फलदार पेड़ों के रोपण आदि विषयों पर विस्तार से बताया तथा कार्य करने को कहा.

फलदार

कार्यक्रम के अंतर्गत स्मार्ट इको क्लब द्वाराआयोजित विश्वपर्यावरण दिवस 2020 के पोस्टर प्रतियोगिता में 70 विजेताओं के परिणाम यूसर्क के वैज्ञानिक डा. ओपी नौटियाल एवं डा. भवतोष शर्मा के द्वारा because घोषित किये गए एवं यूसर्क द्वारा संचालित स्मार्ट इको क्लब के 10 प्रभारियों के द्वारा राज्य के विभिन्न जिलों में संचालित गतिविधियों का प्रस्तुतीकरण दिया गया एवं भविष्य की योजनाओं पर विस्तृत चर्चा की व भविष्य में यूसर्क के मार्गदर्शन की अपेक्षाकरी. कार्यक्रम का संचालन डा. मंजू सुन्द्रियाल के द्वारा किया गया.

इको क्लब

कार्यक्रम के अंत में कार्यक्रम के को-समन्वयक डा. राजेन्द्र सिंह राणा, वैज्ञानिक, यूसर्क के द्वारा सभी प्रतिभागियों को धन्यवाद दिया गया. कार्यक्रम में यूसर्क से उमेश जोशी, because ओम जोशी , राजदीप जंग , बिपिन सती, राधिका सूद एवं शिवानी पोखरियाल उपस्थित थे. इसके अतिरिक्त विभिन्न संस्थानों, विश्वविद्यालयों, विद्यालयों से 100 प्रतिभागियों के द्वारा प्रतिभाग किया गया.

Share this:
About Author

Himantar

हिमालय की धरोहर को समेटने का लघु प्रयास

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *