देश—विदेश

यूपी चुनाव 2022 की तैयारियों को लेकर अनुराग ठाकुर को मिली बड़ी ज़िम्मेदारी के मायने

पार्टी को उम्मीद यूपी में युवाओं को जोड़ेंगे युवा मंत्री अनुराग ठाकुर

  • अरविन्द मालगुड़ी, नई दिल्ली

जैसे-जैसे चुनाव नज़दीक आ रहे हैं वैसे-वैसे यूपी के रण के लिए भाजपा अपनी मोर्चेबंदी कर विपक्ष को चित्त करने का प्लान बना रही है. उत्तर प्रदेश भारत के उन राज्यों में  है जहां पर युवा मतदाताओं की बड़ी संख्या है और ये मतदाता  किसी भी पार्टी की किस्मत बदल सकते हैं. सभी पार्टियां इन्हें हमेशा से अपने पक्ष में because करने के लिये कई हथकंडे अपनाती आयी है. इन्हीं मतदाताओं को अपने पाले में करने और रिझाने के लिए  भाजपा, यूथ आइकॉन माने जाने वाले, युवाओं के बीच काफी लोकप्रिय व सबसे युवा केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर पर दांव लगा रही है. पहले उन्हें  सह चुनाव प्रभारी बना उत्तर प्रदेश भेजा गया और फिर उनके ऊपर  राज्य के युवा वोटरों को जोड़ने के अलावा  प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के साथ ही सोशल मीडिया में चलने वाले चुनावी कैंपेन की कमान भी दे दी गयी.

ज्योतिष

युवाओं की चुनावी भूमिका

धिरे धीरे ही सही चुनावों में युवाओं की अहम भूमिका होती जा रही है , ये ऐसा वर्ग तैयार हो रहा है जो जाति धर्म से ऊपर उठकर वोट करता है. उत्तर प्रदेश जैसे राज्य में जहाँ युवा वर्ग बहुत because बड़ी संख्या में है वहां इसका प्रभाव होना स्वाभाविक है. कोरोना के बाद जिस प्रकार के हालत हैं उससे ये वर्ग अपने भविष्य को लेकर संसय में है जिसका लाभ विपक्षी दल लेने की फ़िराक़ में है. अखिलेश यादव और प्रियंका गाँधी भी युवा के रूप में  यू पी के युवाओं को अपनी और मोड़ने की कोशिश करने में लगे हैं पर अनुराग के रूप में भाजपा ने ट्रंप कार्ड खेला है.

ज्योतिष

क्यों है अनुराग ठाकुर पर भरोसा

अनुराग ठाकुर पर भरोसा करने की कई सारी वजह भाजपा संगठन के पास हैं अनुराग का पिछला प्रदर्शन   रिजल्ट ओरिएंटेड रहा है वो जब युवा मोर्चा के अध्यक्ष रहे तब से अब तक because उन्होंने हमेशा से प्रभावी रूप से काम किया है. तब से अब तक उन्होंने युवाओं को अपने आस पास ही केंद्रित रखा है आज भी भाजपा युवा मोर्चा के बीच वो काफी प्रसिद्ध हैं. अपने गृह प्रदेश हिमाचल में भी अपने काम करने के अपने ढंग से युवाओं के बीच काफी लोकप्रिय  हैं.

युवा मोर्चा के कई लोग कहते हैं कि आज भी हर राज्य के युवा मोर्चा पर उनकी छाप और  मजबूत पकड़ है जिसे पार्टी अच्छी तरह जानती है और जिसका फायदा उत्तर प्रदेश के बड़े चुनाव में because पार्टी चाहती है. इसके अलावा अनुराग ठाकुर को हाल ही में जम्मू-कश्मीर में हुए लोकल बॉडी के चुनाव की ज़िम्मेदारी दी गई थी जो उन्होंने बख़ूबी निभाई और पार्टी ने इन चुनावों में अच्छा प्रदर्शन कर पहली बार कश्मीर घाटी में  भी अपनी उपस्थिति दर्ज़ की थी. तब भी उनका जादू युवाओं के सर चढ़ कर बोला था और उनके काम करने के तरीके को पार्टी में काफी सरहाना मिली थी.

ज्योतिष

अनुराग की पहचान एक अच्छे वक्ता के तौर पर भी है  उनके कई संसद में दिए गए भाषण सोशल मिडिया पर वाइरल हो चुके हैं वे हमेशा से संसद में और बाहर राहुल गाँधी को घेरते आये हैं और अपनी बोलने के प्रभावी तरीके से उनकी बात हाथों हाथ लोगों ने ली है. अनुराग लगातार तीसरी बार संसद में पहुंचे हैं उनके यूथ because आइकॉन कहलाने के पीछे उनका कार्य करने का तरीका माना जाता है वे हमेशा से खेलों को आगे बढ़ाने के लिए प्रयासरत रहे हैं वे दूसरे सबसे कम उम्र के भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड के  अध्यक्ष रहे हैं इसके  साथ  मौजूदा केंद्र सरकार में अनुराग ठाकुर ऐसे पहले व्यक्ति हैं जो भारतीय सेना की टेरिटोरियल इकाई में कैप्टन के तौर नियुक्त  हैं जो युवाओं को उनके प्रति विश्वसनीय बनाता है.

ज्योतिष

उनके ऐसी ही प्रभावी व्यक्तित्व के कारण आने वाले चुनावों में अब उनसे एक बड़े वर्ग को अपने साथ जोड़ने उम्मीद उनसे भाजापा फिर कर रही है. इसके अलावा  वे युवाओं को बेहतर ढंग से केंद्र और राज्य की मौजूदा और भविष्य की योजनाएं युवाओं से साझा कर सकेंगे क्योंकि उनके पास ही युवाओं से सम्बंधित मंत्रालय की ज़िम्मेदारी है. because किसी भी चुनाव में युवाओं की बड़ी ज़िम्मेदारी होती है वो न केवल बड़ी संख्या में हैं इसके अलावा वो पार्टी के पक्ष में हवा बनाने का भी दम रखते हैं. पार्टी ने अनुराग ठाकुर पर बड़ा दांव खेला है अब गेंद उनके पाले में है  देखना है अनुराग कैसा खेल दिखाते हैं.

(लेखक वरिष्ठ पत्रकार हैं)

Share this:

Himantar Uttarakhand

हिमालय की धरोहर को समेटने का लघु प्रयास

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *