विश्व बाँस दिवस का आयोजन

  • हिमांतर ब्यूरो, देहरादून

उत्तराखण्ड विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान केन्द्र (यूसर्क) (Uttarakhand Center for Science Education and Research (USERC)) के सभागर में विश्व बाँस दिवस (world bamboo day) का आयोजन गत 18 सितम्बर 2021 को किया गया. कार्यक्रम का उद्देश्य बाँस की प्रजाति के because बहुउपयोगी महत्व को देखते हुये बाँस के उद्योग को बढ़ावा देने, काश्तकारों के सामाजिक एवं आर्थिक उन्नयन हेतु व इसके संरक्षण के लिये जागरूकता को बढ़ाना था. कार्यक्रम में यूसर्क की वैज्ञानिक डा. मन्जू सुन्दरियाल द्वारा बाँस के उपयोग, आजीविका का संसाधन परम्परागत व्यवसाय की समस्यायें एवं बाँस के संसाधन के संरक्षण पर विस्तृत प्रस्तुतिकरण दिया गया.

ज्योतिष

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुये यूसर्क की निदेशक प्रो. (डा.) अनीता रावत द्वारा बाँस को एक महत्वपूर्ण प्रजाति बताते हुये इसके संरक्षण एवं संवर्धन को आवश्यक बताया साथ में उनके द्वारा इस उद्योग में महिलाओं को जोड़ने, नये उत्पाद बनाने एवं इनके बाजारीकरण का सुझाव दिया गया. कार्यक्रम के अन्त में यूसर्क because की निदेशक एवं वैज्ञानिकों के द्वारा बाँस के पौधों को लगाकर इसके संरक्षण का संकल्प लिया गया. इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से यूसर्क के वैज्ञानिक डॉ ओम प्रकाश नौटियाल, डॉ मंजू सुन्दरियाल, डॉ भवतोष शर्मा, डॉ राजेन्द्र सिंह राणा, डॉ विपिन सती, श्रीमती शिवानी पोखरियाल, श्री हरीश ममगांई, ओम जोशी, राजदीप जंग, श्री रमेश रावत, श्री राजीव बहुगुणा, राधिका सूद इत्यादि के द्वारा प्रतिभाग किया गया.

Share this:
About Author

Himantar

हिमालय की धरोहर को समेटने का लघु प्रयास

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *