Home Posts tagged महिला स्वयं सहायता समूह
साहित्‍य-संस्कृति

स्वयं सहायता समूह के जरिए पूर्ण हुआ स्वरोगार का स्वप्न

प्रकाश उप्रेती   पहाड़ हमेशा आत्मनिर्भर रहे हैं. पहाड़ों के जीवन में निर्भरता का अर्थ सह-अस्तित्व है. यह सह-अस्तित्व का संबंध उन संसाधनों के साथ है जो पहाड़ी जीवनचर्या के because अपरिहार्य अंग हैं. इनमें जंगल, जमीन, जल, जानवर और जीवन का कठोर परिश्रम शामिल है. इधर अब गांव में कई तरह की योजनाओं के