Tag: चारधाम यात्रा

बिना पंजीकरण यमुनोत्री-गंगोत्री धाम न आएं तीर्थयात्री: सुंदरम

बिना पंजीकरण यमुनोत्री-गंगोत्री धाम न आएं तीर्थयात्री: सुंदरम

उत्तरकाशी
ऋषिकेश और डामटा बैरियर पर पुलिस सख्ती से कराएं पंजीकरण का पालन उत्तरकाशी. सचिव मुख्यमंत्री आर मीनाक्षी सुंदरम ने बुधवार को उत्तरकाशी में यमुनोत्री और गंगोत्री धाम की यात्रा व्यवस्थाओं की समीक्षा बैठक ली. इस दौरान यात्रा व्यवस्थाओं की समीक्षा करते हुए सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम ने पुलिस-प्रशासन को निर्देश दिए कि बिना पंजीकरण धामों की यात्रा करने वालों को सख्ती से निपटें और सीधा चेकिंग बैरियर से वापस भेजें. इसके लिए  बैरियरों तथा अन्य स्थानों पर सख्ती से चेकिंग की जाए. उन्होंने यमुनोत्री धाम में बिना पंजीकरण के डंडी-कंडी, घोड़ा-खच्चरों के संचालन पर भी प्रभावी रोक लगाने के निर्देश दिए हैं. यमुनोत्री और गंगोत्री धाम में रिकॉर्ड तीर्थयात्रियों के पहुंचने से उत्पन्न स्थिति पर सचिव मुख्यमंत्री आर मीनाक्षी सुंदरम और महानिदेशक सूचना बंशीधर तिवारी बुधवार को उत्तरकाशी पहुंचे. यहां आईटीबीपी मातली के सभा...
फूलों से सजा बाबा केदार का मंदिर, धाम की पवित्रता का रखें ख्याल

फूलों से सजा बाबा केदार का मंदिर, धाम की पवित्रता का रखें ख्याल

उत्तराखंड हलचल
रुद्रप्रयाग. उत्तराखंड की चारधाम यात्रा 10 मई से शुरू हो रही है. देश-विदेश से भारी संख्या में तीर्थ यात्री यहां पहुंचने शुरू हो गये हैं. यात्रा तैयारियों की समीक्षा करने के लिये मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी रुद्रप्रयाग पहुंचे. यहां उन्होंने जिला कार्यालय में अधिकारियों की बैठक ली. उन्होंने रुद्रप्रयाग पहुंचकर केदारनाथ यात्रा व्यवस्थाओं की समीक्षा बैठक ली. इस दौरान सीएम ने सभी अधिकारियों को यात्रा तैयारियां समय पर करने और यात्रियों को सभी सुविधा मुहैया कराने के निर्देश दिये. अतिथि देवों भव मुख्यमंत्री धामी ने निर्देश दिये कि जो भी यात्री यहां आते हैं, उनके साथ अतिथि देवों भव का व्यवहार किया जाये. सभी यात्रा पड़ावों सहित केदारनाथ धाम में यात्रियों को बेहतर से बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराई जाये. यहां आने वाले किसी भी यात्री को कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिये. केदारनाथ पैदल मार्ग सहित धाम में साफ-सफ...
चारधाम यात्रा के दौरान यात्रियों को मिलेंगी बेहतर सुविधाएं, साफ-सफाई के साथ चिकित्सा सेवाएं भी

चारधाम यात्रा के दौरान यात्रियों को मिलेंगी बेहतर सुविधाएं, साफ-सफाई के साथ चिकित्सा सेवाएं भी

उत्तराखंड हलचल
इस बार गत वर्ष की तुलना में चारधाम यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं के लिए सुविधाओं में बढ़ोतरी की गई है। गत वर्ष केदारनाथ में जहां कुल नौ पार्किंग का संचालन किया जा रहा था तो उस बार कुल 20 स्थानों पर पार्किंग की व्यवस्था की गई है। यहां 1495 वाहनों की पार्किंग की सुविधा उपलब्ध होगी। पहली बार वाहनों की मॉनिटरिंग के लिए एप बनाई गई है। सरकार का दावा है कि यात्रा मार्ग पर सफाई व्यवस्था को लेकर भी बेहतर इंतजाम किए गए हैं। गत वर्ष जहां 617 सफाई कर्मियों को इस कार्य में लगाया गया था तो इस बार कुल 700 कर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है। यात्रा रूट में पहली बार चार नए हाई टेक मॉड्यूलर शौचालय एवं चार नए मोबाइल मॉड्यूलर शौचालय की व्यवस्था की गई है। इसके अतिरिक्त एक रोड स्वीपिंग मशीन भी सफाई कार्य में लगाई जाएगी। इस बार यात्रा रूट पर चलने वाले सभी 4000 घोड़े-खच्चरों की निगरानी भी प्रशासन के स्तर से की जाएगी। गत...
चारधाम यात्रा : शुरुआती 15 दिनों में यात्रा से परहेज करें VIP और VVIP, मुख्य सचिव ने सभी राज्यों को भेजा पत्र

चारधाम यात्रा : शुरुआती 15 दिनों में यात्रा से परहेज करें VIP और VVIP, मुख्य सचिव ने सभी राज्यों को भेजा पत्र

उत्तराखंड हलचल
चारधाम यात्रा को लेकर राज्य सरकार की तैयारियां अब अंतिम चरण में हैं. चुनावी व्यस्तता के बावजूद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी यात्रा तैयारियों की नियमित मॉनिटरिंग कर रहे हैं. साथ ही अधिकारियों से भी इस संबंध में नियमित रूप से संपर्क में बने हुए हैं. मुख्य सचिव राधा रतूड़ी की ओर से सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को यात्रा के शुरुआती 15 दिनों में वीवीआइपी दर्शनों को अवॉइड करने हेतु पत्र भेजा गया है. गढ़वाल कमिश्नर विनय शंकर पांडेय ने बताया कि मुख्यमंत्री के दिशा-निर्देशों के क्रम में मुख्य सचिव उत्तराखंड शासन की ओर से सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को इस आशय का पत्र भेजा गया है कि यात्रा के शुरुआती 15 दिनों (विशेष रूप से केदारनाथ धाम) में वीवीआइपी दर्शनों को जितना हो सके टाला जाए ताकि आम श्रद्धालुओं को दर्शनों में किसी तरह की परेशानियों का सामना न करना पड़े. साथ ही इस संबंध में हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार...
चारधाम यात्रा : यात्रियों के लिए अच्छी खबर, जल्द शुरू होगी ये सेवा

चारधाम यात्रा : यात्रियों के लिए अच्छी खबर, जल्द शुरू होगी ये सेवा

उत्तराखंड हलचल
देहरादून : सरकार चारधाम यात्रा की तैयारियों में जुट गई है। CM धामी भी लगातार अधिकारियों की बैठकें ले रहे हैं। इस बीच सरकार ने यात्रियों के लिए एक नई सुविधा शुरू करने का फैसला लिया है। यह सुविधा चारधाम यात्रा के दौरान तीर्थ यात्रियों के लिए काफी फायदे वाली साबित हो सकती है। इस साल चारधाम यात्रा पार आने वाले तीर्थ यात्रियों के लिए अच्छी खबर है। यात्रा पर आने वाले श्रद्धालु और पर्यटक अब GMVN की वेबसाइट पर कैब बुक कर सकेंगे। इसके लिए जीएमवीएन ने तैयारी शुरू कर दी है। केदारनाथ और बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि घोषित की जा चुकी है। जबकि यमुनोत्री और गंगोत्री धाम की तिथि का जल्द ही ऐलान किया जाएगा। सरकार और प्रशासन चारधाम यात्रा को सरल और सफल बनाने के लिए तैयारी में जुट गया है। ऐसे में जीएमवीएन की ओर से भी तीर्थ यात्रियों और पर्यटकों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए पहली बार अपनी वेबसाइट प...
उत्तराखंड: चारधाम यात्रा की तैयारियों को लेकर CM ने ली बैठक, अधिकारियों को दिए निर्देश

उत्तराखंड: चारधाम यात्रा की तैयारियों को लेकर CM ने ली बैठक, अधिकारियों को दिए निर्देश

उत्तराखंड हलचल
देहरादून: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सचिवालय में चारधाम यात्रा 2024 की तैयारियों के सम्बन्ध में बैठक ली। बैठक के दौरान सीएम धामी ने अधिकारियों को चारधाम यात्रा की तैयारियों एवं मॉनिटरिंग के लिए कमेटी गठित करने और यातायात प्रबंधन के सुगम संचालन के लिए एसपी, एडिशनल एसपी रैंक के अधिकारी को नियुक्त करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बैठक में यात्रा मार्ग पर पर्याप्त पुलिस बल की तैनाती, संवेदनशील इलाकों में सीसीटीवी लगाने के साथ ही सड़कों को दुरस्त करने और यात्रा मार्ग पर स्वास्थ्य सुविधाओं को सुदृढ़ करने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया। इसके साथ ही सीएम ने यात्रा काल के दौरान सोशल मीडिया की मॉनिटरिंग करने और मौसम, आपदा, यात्रा से संबंधित फेक न्यूज पर लगाम लगाने के लिए निर्देशित किया। सीएम ने कहा मौसम के पूर्वानुमान संबंधित जानकारी के लिए मैसेज अलर्ट की व्यवस्था की...
आज से शीतकाल चारधाम यात्रा शुरू, शंकराचार्य ने की शुरुआत

आज से शीतकाल चारधाम यात्रा शुरू, शंकराचार्य ने की शुरुआत

उत्तराखंड हलचल
हरिद्वार: आज से शीतकाल के लिए चारधाम यात्रा की शुरुआत हो गई है। ज्योतिषपीठ के शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती ने इसकी शुरुआत की। यात्रा मार्गों पर उत्तरकाशी के बड़कोट में उनको भव्य स्वागत किया जाएगा। ज्योतिर्मठ के मीडिया प्रभारी डॉ. बृजेश सती ने बताया कि जगतगुरु शंकराचार्य की चारधाम की यात्रा 27 दिसंबर से शुरू होगी। इस दौरान मां यमुना की शीतकालीन पूजा स्थल खरसाली पहुंचेंगे। इसके साथ ही शाम की पूजा और आरती में शामिल होंगे। शंकराचार्य द्वारा 2500 वर्ष पूर्व से स्थापित परंपराओं का निर्वहन करते हुए ज्योतिषपीठ के शंकराचार्य शीतकालीन पूजास्थलों की तीर्थयात्रा कर रहे हैं। यात्रा की शुरुआत 27 दिसंबर से की की जाएगी। जबकि यात्रा का समापन तीन जनवरी 2024 को हरिद्वार में होगा। आदिगुरु शंकराचार्य परंपरा के इतिहास में यह पहला अवसर है जब ज्योतिषपीठ के आचार्य चारधामों के पूजा स्थलों की तीर्थ ...
चारधाम यात्रा: तैयारियों को लेकर अपर मुख्य सचिव की तीर्थपुरोहित समाज व टूर ऑपरेटर्स के साथ बैठक

चारधाम यात्रा: तैयारियों को लेकर अपर मुख्य सचिव की तीर्थपुरोहित समाज व टूर ऑपरेटर्स के साथ बैठक

देहरादून
उत्तराखण्ड में आगामी माह से शुरू होने चारधाम यात्रा की तैयारियों को लेकर मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी की अध्यक्षता में शुक्रवार को सचिवालय में चारधाम यात्रा से जुड़े होटल व्यवसायियों, तीर्थपुरोहित समाज व टूर ऑपरेटर्स के साथ बैठक आयोजित की गई. अपर मुख्य सचिव ने कहा कि पिछले वर्ष चारधाम यात्रा में जितनी संख्या में श्रद्धालु पहुँचे थे, इस बार उससे अधिक आने की संभावना है, लिहाज़ा सरकार हर स्तर पर तैयारियों की समीक्षा कर रही है. उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि केदारनाथ, बदरीनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री धाम में कपाट खुलने से पहले बिजली- पानी की व्यवस्था को सुचारू कर दिया जाए. अपर मुख्य सचिव ने ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया को और भी सुलभ बनाए जाने के निर्देश दिए. अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी ने चारधाम यात्रा से जुड़े सभी प्रतिनिधियों स...
चारधाम यात्रा : 19 नवंबर को बंद होंगे श्री बदरीनाथ धाम के कपाट  

चारधाम यात्रा : 19 नवंबर को बंद होंगे श्री बदरीनाथ धाम के कपाट  

देहरादून
हिमांतर वेबडेस्क चारधाम यात्रा शनै शनै समापन की ओर बढ़ रही है. चारों धामों में साढे़ तैतालीस लाख से अधिक तीर्थयात्रियों ने दर्शन किये तथा हेमकुंट साहिब लक्ष्मण मंदिर को मिला कर तीर्थयात्रियों की  यह संख्या छयालीस लाख से अधिक पहुंच गयी. इस यात्रावर्ष श्री बदरीनाथ धाम के कपाट 19 नवंबर शनिवार को शीतकाल हेतु बंद हो जायेंगे. चारो धामों में से श्री केदारनाथ धाम के कपाट तथा यमुनोत्री धाम के कपाट 27 अक्टूबर तथा 26 अक्टूबर को गंगोत्री धाम के कपाट बंद हो गये है.  श्री बदरीनाथ धाम में श्रद्धालु  निरंतर  पहुंच रहे है. आज तक 1680775 (सोलह लाख अस्सी  हजार सात  सौ पिच्चतर) तीर्थयात्री  बदरीनाथ धाम पहुंच गये है. वर्ष 2019 में इस दो  दशकों में सर्वाधिक 10 लाख 40 हजार श्रद्धालु बदरीनाथ धाम पहुंचे थे. इसी तरह श्री केदारनाथ धाम में इस यात्रा वर्ष 1563278 तीर्थ यात्री पहुंचे हैं. यमुनोत्री धाम में 48...
सोनप्रयाग का ‘पहाड़ी किचन’ यानी आर्गेनिक उत्पादों से बने खाने का जायका

सोनप्रयाग का ‘पहाड़ी किचन’ यानी आर्गेनिक उत्पादों से बने खाने का जायका

रुद्रप्रयाग
अर्जुन सिंह रावत भारत के लोग घूमने और एक से दूसरे राज्य के खाने का जायका लेने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं. चारधाम का अहम पड़ाव होने के कारण केदारनाथ हमेशा से ही because श्रद्धालुओं के ट्रैवल मैप में रहता है. पिछले कुछ वर्षों में केदारनाथ आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में अभूतपूर्व इजाफा हुआ है. ऐसे में यहां आने वाले लोगों को पहाड़ों के आथेंटिक जायके से रूबरू कराने और उन्हें सफर की 'जायकेदार' यादों देने के लिए केदारनाथ यात्रा के मुख्य पड़ाव सोनप्रयाग में पहाड़ी किचन की शुरुआत हुई है. उत्तराखंड केदारनाथ यात्रा में आने वाले कई लोग पहाड़ी खाने का स्वाद लेने की इच्छा रखते हैं. सोनप्रयाग में लोगों को आर्गेनिक पहाड़ी उत्पादों से तैयार खाने का विकल्प देने के लिए because ‘पहाड़ी किचन’ की शुरुआत की गई. 24 मई, 2019 को ‘पहाड़ी किचन’ एक प्रयोग के तौर पर शुरु हुआ, लेकिन अपने खास तरह के स्वा...