November 27, 2020
Uncategorized

‘चलो गांव की ओर’ मुहिम के तहत डॉ. जोशी ने  उत्तरकाशी में लगाया फ्री मेडिकल हैल्थ कैम्प

‘विचार एक नई सोच’ संस्था ने बांटे मास्क और सैनिटाइजर, कोरोना को लेकर किया लोगों को जागरूक

  • हिमांतर ब्‍यूरो, देहरादून

डॉक्‍टर को भगवान का दूसरा रूप कहा जाता है. कुछ लोग इसको साकार करते हुए दिखाई दे रहे हैं. इन्हीं में से एक हैं डॉक्‍टर एसडी जोशी. उत्तराखंड के लोकप्रिय फिजीशियन डॉ. एसडी जोशी किसी पहचान के मोहताज नहीं है. अपने व्यवहार और समर्पण से मरीजों में खासा लोकप्रिय डॉ. जोशी की लोकप्रियता का अंदाजा आप but इस बात से लगा सकते हैं कि जिन-जिन जनपदों में इन्होंने अपने रिटायरमेंट से पहले सेवाएं दे वहां से आज भी मरीज इनकी सलाह लेने या इनको दिखाने के लिये देहरादून स्थित इनके शंकर क्लीनिक में आते हैं. डॉ. जोशी भी किसी को निराश नहीं करते हैं. चिकित्सा सेवा के तमाम संगठनों से जुड़े डॉ. एसडी जोशी प्रांतीय चिकित्सा सेवा संघ के 2 बाद निर्विरोध अध्यक्ष भी रह चुके हैं.

उत्तरकाशी में लगाया फ्री मेडिकल हैल्थ कैम्प

वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. but एसडी जोशी की पहाड़ के दुर्गम इलाकों में जाकर लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं देने की मुहिम लगातार जारी है. पौड़ी, चमोली के बाद डॉ. जोशी ने उत्तरकाशी जनपद में फ्री मेडिकल हैल्थ कैम्प लगाया. उत्तरकाशी पहुंचने पर डॉ. एसडी जोशी का भव्य स्वागत किया गया. इस मौके पर उत्तरकाशी जनपद के सीएमओ डॉ. डीपी जोशी भी मौजूद रहे. डूंडा और भटवाड़ी ब्लॉक में आयोजित फ्री मेडिकल हैल्थ कैम्प कैंप में वरिष्ठ फिजिशीयन but डॉ. जोशी ने 300 से अधिक मरीज देखे. इन मरीजों में सामान्य बीमारियों के आलावा 100 से अधिक मरीज हृदय रोग व शुगर से संबधित बीमारियों के भी थे. हृदय रोग से संबधित मरीजों का मौके पर फ्री इसीजी व शुगर के रोगियों की फ्री शुगर जांच की गई. सभी जांचे पूरे एतिहात के साथ डॉ. जोशी की टीम के महत्वपूर्ण सदस्य कपिल थापा ने अहम योगदान दिया.

कोरोना संक्रमण को लेकर किया गया जागरूक

डॉ. जोशी ने मेडिकल हैल्थ but कैंप में स्वास्थ्य जांच को आये सभी मरीजों को कोराना महामारी को लेकर जागरूक किया. उन्हें कोरोना के लक्षण व बचाव के तरीकों के बारे में बिस्तार से बताया. साथ ही वायरल संक्रमण व कोरोना संक्रमण के अंतर को भी मरीजों के समझाया. डॉ. जोशी ने स्वास्थ्य जांच को आये लोगों से कहा कि बीमारियों को छिपायें नहीं डॉक्‍टर को बतायें. बिना डॉक्टरी के सलाह के कोई भी दवा न खायें.

दीपक जुगराण ने बांटे मास्क सैनिटाइजर

उत्तरकाशी में लगाये गये फ्री मेडिकल हैल्थ कैम्प में विचार एक नई सोच संस्था के सदस्य दीपक जुगराण ने स्वास्थ्य जांच को आये सभी लोगों को फ्री मास्क व सेनेटाइजर बांटे. but दीपक जुगराण ने स्वास्थ्य जांच को आये सभी लोगों को मास्क की अहमियत बताते हुए घर से बाहर बिना मास्क के न निकले को कहा. उन्होंने लोगों से मास्क पहनने के साथ सोशल डिस्टेसिंग का पालन करने को भी कहा. लोगों ने विचार एक नई सोच संस्था की सराहना करते हुए कोरोना जागरूकता को लेकर प्रयास की सराहना की.

पहाड़ो के प्रति समर्पित डॉ. एसडी जोशी

डॉ. एसडी जोशी ने कहा कि but लोगों की सुविधा के लिए लगाये जाने वाले स्वास्थ्य शिविरों से जनता को राहत मिलती है. उन्होंने कहा कि वह लोग जो महंगी दवाईयां नहीं खरीद सकते, जांचें नहीं करा सकते, उन्हें ऐसे शिविरों से लाभ मिलता है. डॉ. एसडी जोशी ने कहा कि वह समय-समय पर पहाड़ों में जनता के लिये नि:शुल्क सेवाएं देते रहेंगे.

चलो गांव की ओर मुहिम के जरिए मिल रहा लोगों को फ्री ईलाज

डॉक्टर जोशी ने कहा कि पहाड़ों में स्वास्थ्य सेवाओं के सुधार के लिये सरकार के साथ-साथ हम सभी डॉक्टरों को अपने स्तर से प्रयास करने होंगे. इसकी शुरूआत मैने स्‍वयं से की है. but मेरा गांव चमोली जनपद के अंतर्गत आता है. जहां स्वास्थ्य सेवाओं की हालत किसी से छिपी नहीं है. इसलिये मैं प्रत्येक 2 माह में एक स्वास्थ्य कैंप अपने गांव में लगाता हूं. जिससे मेरे गांव के साथ ही आस पास के गांव के लोगों को स्वास्थ्य संबधी जागरूकता के साथ ही तमाम बीमारियों का ईलाज हो सके. इसके साथ ही इस कैंप में सभी दवाईयां नि:शुल्क दी जाती हैं. चमोली के साथ पौड़ी जिले के अधिकांश गांवों में विचार एक नई सोच संस्था के साथ मिलकर फ्री कैंप आयोजित किये जा रहे हैं.

उत्तरकाशी जनपद but में भी फ्री कैंप आयोजित किया गया है. जहां पर 300 से अधिक मरीज देखे गये हैं. इसमें से 100 से अधिक मरीजों की ईसीजी व शुगर जांच निशुल्क की गई है. मेरी यह यात्रा लगातार जारी रहेगी. मेरी कोशिश है प्रत्येक जनपद में दुर्गम गांवों में और जहां जरूरत हो वहां नि:शुल्क हैल्थ कैंप लगाता रहूं.

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *