March 6, 2021
समसामयिक

गांवों में बदलाव की मुहिम छेड़ रहा है गढ़वाल कुमाऊं वार्रियर्स!

  • हिमांतर ब्‍यूरो, नई दिल्ली

प्रेस क्लब ऑफ इंडिया में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए बीके सामंत ने कहा कि गढ़वाल कुमाऊं वार्रियर्स के तहत हम हर जिले से हमारे इस संगठन में एक लाख लोगों को जोड़ेंगे, उसके उपरांत हमारी कोशिश रहेगी की अपने संगठन के माध्यम से जिलों के हर उन गांवों तक पहुंचें जो सामाजिक व विकास की दृष्टि से पिछड़े हों, इन गांवों को गोद लेने के बाद हम गांवों में शिक्षा, चिकित्सा, बिजली, पानी, सड़क, रास्ते, खेती, because संस्कृति व खेलों को लेकर व्यापक पैमाने पर काम करेंगे.

संगठन

उन्होंने आगे कहा कि हम युवाओं में बढ़ रहे नशे के खिलाफ भी निर्णायक मुहिम छेड़ेंगे, गांवों को गोद लेने की हमारे संगठन की एक अपनी प्रक्रिया होगी, जैसे कि गांव की आबादी व गांव से पलायन चुके लोगों की आबादी, अपने गांव से पलायन कर चुके लोगों को हम कैसे उन्हें उनके गांव से जोड़ें इसको लेकर भी हमारे पास काफी because लोगों के सुझाव आयें हैं जिन पर हम काम कर रहे हैं.

संगठन

हमारा यह संगठन because अंतर्राष्ट्रीय स्तर का होगा, राज्य से बाहर रह रहे लोगों के साथ-साथ हम देश से बाहर रह रहे राज्य के लोगों को भी हमारे संगठन से जोड़ेंगे व जोड़ रहे हैं, साथ ही हम हमारे इस संगठन गढ़वाल कुमाऊं वार्रियर्स उत्तराखंड में लगभग हर क्षेत्र के लोगों को जोड़ेंगे व जोड़ रहे हैं, जैसे कि सामाजिक कार्यकर्ता, शिक्षा, because कानूनी न्याय से जुड़े लोग, डॉक्टर, व्यापारी, मीडिया, खेलों व सिनेमा संगीत जगत से जुड़े हुये वो लोग जो हमारे साथ-साथ हमारी युवा पीढ़ी के भी आदर्श हैं आदि.

संगठन

चम्पावत जिले के लोहाघट नगर पंचायत के सिंगड़ा गांव से नाता रखने वाले बीके सामंत इंटरनेट पर खूब पसन्द किये जाते हैं. इनका ‘थल की बजार’ थिरकने पर मजबूर कर देता है तो वहीं इनका गीत because ‘तू एजा ओ पहाड़’ सबकी आंखें नम कर देता है.

संगठन

बीके सामंत ने कहा कि इस संगठन में अभी तक प्रसून जोशी जी, एलारा कैपिटल के सीईओ राज भट्ट, नरेंद्र लडवाल, अंतर्राष्ट्रीय निशानेबाज जसपाल राणा, यूथ फाउंडेशन के कर्नल अजय कोठियाल, गढ़ रत्न नरेंद्र सिंह नेगी, उत्तराखंड के पूर्व पुलिस निदेशक अनिल रतुड़ी, आरजे काव्य, मशरूम गर्ल दिव्या रावत व कई अन्य because अवकाश प्राप्त सेना अफसर व ब्यूरोक्रेटस जुड़ चुके हैं, और हमें उम्मीद है कि बहुत जल्द और भी कई बड़ी हस्तियां हमारे संगठन से जुड़ेंगी व हम जोड़ेंगे.

संगठन

उत्तराखंड राज्य जब कोरोना की वैश्विक महामारी से गुजर रहा है तब उत्तराखंड के बहुत से कलाकार अपनी कला से लोगों को जागरूक कर रहे थे. ऐसे ही कठिन दौर में प्रसिद्ध लोकगायक बीके सामंत ने अपनी सुरीली आवाज में लोगों को जागरूक करने के लिए एक गीत गाया जिसने सोशल मीडिया में खूब वाह-वाही बटोरी. चम्पावत जिले because के लोहाघट नगर पंचायत के सिंगड़ा गांव से नाता रखने वाले बीके सामंत इंटरनेट पर खूब पसन्द किये जाते हैं. इनका ‘थल की बजार’ थिरकने पर मजबूर कर देता है तो वहीं इनका गीत ‘तू एजा ओ पहाड़’ सबकी आंखें नम कर देता है.

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *