टिहरी गढ़वाल

उत्तराखंड से राज्यसभा सदस्य के लिए  टिहरी की भिलंगना घाटी के “सूर्य प्रकाश सेमवाल” को मिले मौका

बिजेंद्र सिंह रावत “दगड़या”

उत्तराखंड के “उत्तरायणी” पर्व को विगत 20 वर्षो से दिल्ली एनसीआर और राष्ट्र स्तर पर पहचान दिलाने वाले कर्मयोगी, यशस्वी , समाज सेवी मानव भाई “सूर्य प्रकाश सेमवाल” को इस बार भाजपा की और से टिहरी राज्य सभा सांसद के लिए आगे आना चाहिए. समाज सेवा भावना , अपनी जड़ों से प्रेम , अपनी पहाड़ की संस्कृति व परंपराओं के सरक्षण व सवर्धन के लिए सदैव प्रथम पंक्ति में खड़े होने वाले सेमवाल जी एक उच्च शिक्षाधारी और शिक्षा के क्षेत्र में भी ठोस नाम है.  इनका पूरा जीवन  राष्ट्रवादी सोच का रहा है औरसंघ के एक स्वयंसेवक के रूप में राष्ट्रभक्ति का संस्कार लेकर कई अहम जिम्मेदारियों का निर्वहन किया है.

  1. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारका  जिला में संपर्क प्रमुख, बौद्धिक प्रमुख  और प्रचार प्रमुख के दायित्व के बाद वर्तमान में समरसता प्रकल्प में संयोजक.
  2. विश्व हिंदू परिषद के संस्कृत विभाग में राष्ट्रीय संगठन मंत्री का दायित्व.
  3. भाजपा हिमालय परिवार में राष्ट्रीय प्रभारी और दिल्ली भाकपा शिक्षा प्रकोष्ठ में मीडिया रामुख.
  4. अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़े रहने के बाद भारत विकास परिषद से जुडाव और सम्प्रति पंचनद शोध संस्थान में पश्चिम दिल्ली प्रभारी का दायित्व.
  5. पांचजन्य में 19996 से 98 तक वरिष्ठ उपसंपादक और फिर 2014 से 2016 तक सहायक संपादक.
  6. डॉ. मुरली मनोहर जोशी अमृतोत्सव अभिनंदन समिति का महासचिव
  7. दिल्ली में छात्र जीवन से उत्तरांचल संघर्ष समिति के माध्यम से उत्तराखंड आंदोलन में भागीदारी की और दिल्ली भाकपा उत्तरांचल प्रकोष्ठ के संगठन मंत्री का दायित्व.
  8. भाजपा मुख्यालय में पार्टी के थिंक टैंक डॉ.श्यामा प्रसाद मुखर्जी फाउंडेशन में सहायक निदेशक रहे.
  9. संघ के राष्ट्रीय प्रचार विभाग में 2019 से 2021, तक वरिष्ठ शोध संपादक के रूप में काम किया.
  10. केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय में सलाहकार का दायित्व.
  11. अपनी जन्मभूमि टिहरी में बांध के ऊपर से सार्वजनिक मार्ग, उत्तराखंड मूल के युवाओं के लिए आयु बढ़ाने का अभियान, खतलिंग महायात्रा को मान्यता दिलाने के प्रयास.
  12. दिल्ली में उत्तरायणी पर्व को पहाड़ का सर्वस्वीकर्य पर्व बनवाने का प्रयास किया.
  13. चुनावों में भाजपा के मंडल, जिला, प्रांत से लेकर मुख्यालय तक कार्यक्रम संचालन और विभिन्न राज्यों में निगम, विधानसभा से लेकर लोकसभा चुनावों में पूर्ण सहभागिता की.

अगर भारतीय जनता पार्टी का उत्तराखंड नेतृत्व देशभर से लेकर उत्तराखंड तक के युवाओं से निरंतर संवाद करने वाले भाई सेमवाल जी का नाम राज्यसभा के लिए आगे बढ़ाता है  तो निसंदेह वो अपनी शिक्षा व प्रतिबद्धता से राष्ट्र हित मे कई निर्णय लेने में सक्षम होंगे.

Share this:

Himantar Uttarakhand

हिमालय की धरोहर को समेटने का लघु प्रयास

Related Posts

  1. समन सिंह says:

    सूर्य प्रकाश सेमवाल शास्त्री जी को मौका मिलना चिये

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *