Blog

शैक्षणिक कैलेंडर अनिवार्य रूप से लागू करें विश्वविद्यालय : डॉ. धन सिंह रावत

शैक्षणिक कैलेंडर अनिवार्य रूप से लागू करें विश्वविद्यालय : डॉ. धन सिंह रावत

देहरादून
समर्थ पोर्टल की खामियां शीघ्र होंगी दूर, अधिकारियों को दिये निर्देश देहरादून. प्रदेश में उच्च शिक्षा के अंतर्गत आने वाले सभी उच्च शिक्षण संस्थानों में सरकार द्वारा जारी शैक्षणिक कैलेंडर अनिवार्य रूप से लागू किया जायेगा. इसके लिये उच्च शिक्षा निदेशालय के साथ ही सभी राजकीय विश्वविद्यालयों के अधिकारियों को निर्देश दे दिये गये हैं. इसके अलावा पिछले परीक्षा परिणाम समय पर घोषित करने व प्रवेश प्रक्रिया को शैक्षणिक कैलेंडर के अनुरूप पूर्ण करने को कहा गया है ताकि समय पर पठन-पाठन शुरू किया जा सके. भारत सरकार द्वारा संचालित समर्थ पोर्टल के माध्यम से प्रवेश प्रक्रिया में आ रही बाधाओं को दूर करने के लिये उच्चाधिकारियों को निर्देशित कर दिया गया है. सूबे के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने आज यमुना कलॉनी स्थित अपने शासकीय आवास पर उच्च शिक्षा विभाग की बैठक ली. जिसमें उन्होंने एक प्रवेश, एक परीक्षा...
श्रावणी : बादल को घिरते देखा है…

श्रावणी : बादल को घिरते देखा है…

ट्रैवलॉग
मंजू दिल से… भाग-21 मंजू काला मेघों की तासीर परखने की ऋतु है सावन व आंखें यदि उपजने वाले दुःख के कारण अविरल बरसें या प्रसन्नता के कारण झूमकर बरस पड़ें, याद सावन की ही आती है. सावन मिलन का भी विग्रह है और विरह का भी, हम उसे अपने-अपने भाव से पूज सकते हैं. सावन मन की वह भागवत है जिसके आनंद को हमारा मन बांचता है और वह गीतगोविंद है जिसकी हरेक अष्टपदी के हरेक शब्द पर देह का रोम-रोम थिरकता है. सावन की झड़ी में बरसने वाली हर बूंद में नृत्य की पुलक समाई रहती है. ये बरसती नहीं थिरकती है... सच में! वैदिक ऋषि वर्षा के देवता पर्जन्य की पिता के रूप में अभ्यर्थना करता है, वाल्मीकि मेघमाल को ऐसी सीढ़ी कहते हैं जिस पर चढ़कर कुटज और अर्जुन की माला से हम सूर्य का अभिनंदन कर सकते हैं. ‘मृच्छकटिकम्’ में शूद्रक गरजते मेघ, आंधी और कौंधती बिजली को आकाश की डरावनी जम्हाई कहते हैं और भर्तृहरि से लेकर जयदे...
समान नागरिक संहिता विधेयक विधान सभा से पारित होने पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को किया सम्मानित

समान नागरिक संहिता विधेयक विधान सभा से पारित होने पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को किया सम्मानित

दिल्ली-एनसीआर
राज्य विधान सभा में समान नागरिक संहिता विधेयक पास होने के पीछे उत्तराखण्ड की जनता का आशीर्वाद -मुख्यमंत्री नई दिल्ली. मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का बुधवार को डीपीएमआई सभागार न्यू अशोक नगर नई दिल्ली में म्येरू पहाड़ फाउण्डेशन द्वारा उत्तराखण्ड में सर्वप्रथम समान नागरिक संहिता विधेयक विधान सभा से पारित होने पर सम्मान समारोह का आयोजन किया गया. इस नागरिक अभिनंदन कार्यक्रम में बडी संख्या में बुद्धिजीवियों, जनप्रतिनिधियों एवं अन्य गणमान्य लोगों द्वारा प्रतिभाग किया गया. उत्तराखण्ड में समान नागरिक संहिता लागू किये जाने के लिये मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी के प्रयासों की सभी ने प्रशंसा की. मुख्यमंत्री ने राज्य विधान सभा में नागरिक संहिता विधेयक पास होने के पीछे उत्तराखण्ड की जनता का आशीर्वाद बताते हुये कहा कि महिला सशक्तिकरण की दिशा में यह कानून मील का पत्थर साबित होगा. मुख्यमंत्री ने इसके ...
नाबार्ड ने सतपुली में झील निर्माण के लिए स्वीकृत की 5634.97 लाख की धनराशि

नाबार्ड ने सतपुली में झील निर्माण के लिए स्वीकृत की 5634.97 लाख की धनराशि

देहरादून
हिमांतर ब्यूरो, देहरादून उत्तराखंड के सिंचाई एव पर्यटन मंत्री और चौबट्टाखाल विधायक सतपाल महाराज ने बताया कि नाबार्ड द्वारा 5634.97 लाख की लागत से बनने वाली महत्वपूर्ण सतपुली झील निर्माण योजना की स्वीकृति प्रदान कर दी है. झील निर्माण की वित्तीय एवं प्रशासनिक स्वीकृति हेतु शासन को भेज दी गई है. सतपाल महाराज ने कहा कि सतपुली झील निर्माण की स्वीकृति के लिए टेंडर प्रक्रिया पूर्व में ही पूर्ण की जा चुकी है. शासन द्वारा वित्तीय एवं प्रशासनिक स्वीकृति प्राप्त होने के पश्चात शीघ्र ही सतपुली झील का निर्माण कार्य प्रारंभ करने के आदेश कर दिए जाएंगे. उन्होंने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का आभार जताते हुए कहा कि सतपुली झील निर्माण मुख्यमंत्री धामी की भी शीर्ष प्राथमिकताओं में शामिल था इसलिए इसके निर्माण का मार्ग प्रशस्त हो पाया है. वर्ष 2017 में सिंचाई एवं पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज अपनी विध...
65 गांव के आराध्य देव राजा रघुनाथ 9 सितंबर को करेंगे बद्री—केदार धाम की यात्रा

65 गांव के आराध्य देव राजा रघुनाथ 9 सितंबर को करेंगे बद्री—केदार धाम की यात्रा

उत्तरकाशी
हिमांतर ब्यूरो, बड़कोट उत्तरकाशी मुलुकपति श्री राजा रघुनाथ जी की दो धामों की यात्रा की तैयारियां जोरों पर हैं. आज यात्रा प्रबंधन समिति की बैठक के बाद श्री राजा रघुनाथ जी ने खुद ही यात्रा की तारीखों का ऐलान कर दिया है. मुलुकपति श्री राजा रघुनाथ जी 9 सितंबर को दो धामों की यात्रा के लिए रवाना होंगे. यह यात्रा कई सालों बाद हो रही है. मुलुकपति श्री राजा राघुनाथ जी के आदेशानुसार यात्रा 9 सितंबर को केदारनाथ धाम और बद्रीनाथ धाम के लिए रवाना होगी. पहले केदारनाथ धाम की यात्रा पर जाएंगे और उसके बाद बद्रीनाथ धाम की यात्रा पर जाएंगे. यात्रा की तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है. यात्रा समिति के अनुसार यात्रा की सभी तैयारियां जोरों पर हैं. यात्रा में किसी तरह की कोई कमी ना रहे, उसके लिए सभी को जिम्मेदारी सौंपी गई है. यात्रा के लिए सभी जरूरी व्यवस्थाएं जुटाई जा रही हैं. मुलुकपति राजा रघुनाथ न...
16 जुलाई को अयोध्या यात्रा के लिए प्रस्थान करेंगे बाबा बौखनाग

16 जुलाई को अयोध्या यात्रा के लिए प्रस्थान करेंगे बाबा बौखनाग

उत्तरकाशी
उत्तरकाशी. सम्पूर्ण यमुना घाटी ही नहीं] देश—विदेश में अपनी शक्ति के लिए विख्यात देवाधिदेव बाबा बौखनाग 16 जुलाई को अपने मूल थान ग्राम भाटिया से लगभग प्रात: 7 बजे अपनी अयोध्या यात्रा के लिए प्रस्थान करेंगे. जिसमें समस्त ग्रामवासी शामिल होंगे. बाबा बौखनाग की देव डोली मूल थान भाटिया से प्रस्थान कर 9 बजे के करीब दिल्ली—यमुनोत्री राजमार्ग गोमाटी (तुनाल्का) पहुंचेंगी, जहां अन्य भक्तजन बाबा के दर्शन कर देव डोली के साथ आगे की यात्रा के लिए प्रस्थान करेंगे. यात्रा नौगांव, बर्नीगाड़, सारीगाड़, डामटा, नैनबाग होते हुए वाया विकासनगर होते हुए दोपहर 3 बजे करीब परेड ग्राउंड देहरादून पहुंचेगी. प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जी एवं पुरोला विधायक दुग्रेश्वर लाल जी के द्वारा परेड ग्राउंड में बाबा बौखनाग की देव डोली का स्वागत कर समस्त भक्तजनों के लिए भंडारे की व्यवस्था की गई है. बाबा के...
बड़कोट पेयजल संकट : विशाल प्रदर्शन के साथ महंत की भूख हड़ताल शुरू

बड़कोट पेयजल संकट : विशाल प्रदर्शन के साथ महंत की भूख हड़ताल शुरू

उत्तरकाशी
सुनील थपलियाल, उत्तरकाशी उत्तरकाशी जनपद के नगर पालिका  क्षेत्र बड़कोट में पेयजल संकट गहराया हुआ है  पानी के लिए एक महिने से चल रहा क्रमिक धरना शनिवार से अनिश्चितकालीन धरने में तब्दील हो गया, जबकि हिन्दू जागृति संगठन के अध्यक्ष  सन्त केशवगिरी महाराज जी ने भूख हड़ताल शुरू कर दी है। नगरवासियों ने चंद्रेश्वर महादेव मंदिर से तहसील तक ढोल नगाड़ों के साथ जमकर नारेबाजी करते हुए हाथों में तख्ती के साथ प्रदर्शन किया और  सरकार से पेयजल पम्पिंग योजना की वित्तीय स्वीकृति की मांग की। इधर तहसील परिसर में चार सूत्रीय मांगो के निस्तारण के लिए क्रमिक धरना अब अनिश्चितकालीन धरने  में तब्दील करते हुए भुख हड़ताल को नगर के सभी वार्ड वासी भारी संख्या में समर्थन देने पहुँचे। नगरवासियों का कहना है कि  जब तक पेयजल पम्पिंग योजना की स्वीकृति नहीं मिल जाती तब तक हड़ताल जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि छोटी योजना...
उत्तराखंड के सुप्रसिद्ध पर्यटन नगर रानीखेत में अयोजित हुआ साहित्य समागम

उत्तराखंड के सुप्रसिद्ध पर्यटन नगर रानीखेत में अयोजित हुआ साहित्य समागम

अल्‍मोड़ा
सी एम पपनैं रानीखेत. छावनी परिषद रानीखेत के बहुद्देशीय सभागार में विगत सप्ताह कविजन हिताय एवं सांस्कृतिक समिति के सौजन्य से साहित्यकार डॉ दिवा भट्ट की अध्यक्षता तथा मुख्य अतिथि कमांडेंट ब्रिगेडियर कुमाऊं रेजिमेंट सेंटर संजय कुमार यादव विशिष्ट सेवा मेडल की भव्य उपस्थिति तथा दिल्ली विश्वविद्यालय सहित विदेशों में विजिटिंग प्रोफेसर रहे डॉ कर्ण सिंह चौहान, डॉ कपिलेश भोज, डॉ दिनेश कर्नाटक, डॉ शैलेय, डॉ वैभव सिंह, डॉ दिनेश कुमार, डॉ पंकज शर्मा के सानिध्य में प्रभावशाली व यादगार साहित्य समागम के अंतर्गत 'उपन्यास में युवा चिन्तन की दिशा' विषय पर परिचर्चा एवं काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया. साहित्य समागम का श्रीगणेश कुमाऊं रेजिमेंट सेंटर के कमांडेंट ब्रिगेडियर संजय कुमार यादव तथा देश के विभिन्न प्रदेशों से आए आमंत्रित साहित्यकारों के कर कमलों दीप प्रज्वलित कर किया गया. छावनी इंटर कॉलेज की छा...
नए कानून न्याय की अवधारणा को करेंगे मजबूत : मुख्यमंत्री

नए कानून न्याय की अवधारणा को करेंगे मजबूत : मुख्यमंत्री

देहरादून
देशभर में लागू हुए तीन नए आपराधिक कानूनों का मुख्यमंत्री ने उत्तराखंड में किया औपचारिक शुभारंभ मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को पुलिस मुख्यालय देहरादून में आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग करते हुए भारतीय न्याय व्यवस्था में लागू हुए तीन नए आपराधिक कानूनों का राज्य में औपचारिक शुभारंभ किया. उल्लेखनीय है कि संपूर्ण देश में आज से तीन नए अपराधिक कानून - भारतीय न्याय संहिता 2023, भारतीय नागरिक सुरक्षा संहिता 2023 और भारतीय साक्ष्य अधिनियम 2023" लागू हो गए हैं. इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने तीन नए कानूनों पर आधारित I.O एप्लीकेशन का शुभारंभ एवं विवेचक पुलिसकर्मियों को टैबलेट वितरित किए. इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने भारतीय न्याय व्यवस्था में तीन नए कानून के लागू होने पर सभी को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आज भारतीय न्याय व्यवस्था के लिए ऐतिहासिक दिन है. अंग्रेजों के जमाने...
उत्तराखंड में मानसून की एंट्री ने डिजास्टर जोन में बढ़ाई चिंता

उत्तराखंड में मानसून की एंट्री ने डिजास्टर जोन में बढ़ाई चिंता

देहरादून
उत्तराखंड में आने वाली आपदाओं को रोकने के लिए केवल टेक्नोलॉजी से काम नहीं चल सकता. उत्तराखंड में 200 लैंडस्लाइड एक्टिव हैं ऐसे में सरकार को ये करना चाहिए कि साल में 10 या 12 को नहीं बल्कि 50-60 का टारगेट रखना चाहिए. डॉ. हरीश चन्द्र अन्डोला, दून विश्वविद्यालय उत्तराखंड में लैंडस्लाइड एक बड़ी समस्या रहा है. राज्य में मानसून की एंट्री हो चुकी है. मानसून सीजन में लैंडस्लाइड अपने पीक पर होता है. मानसून की बारिश में लैंडस्लाइड रिस्क एरिया में बसाए गए लोगों को विशेष खतरा है. राज्य के संवेदनशील इलाकों में अंधाधुंध निर्माण ने बड़ी चुनौती खड़ी की हुई है. ऐसे में पर्यावरणविद और वैज्ञानिक प्रतिष्ठित संस्थानों की रिपोर्ट को नजरअंदाज करने के बजाय, एक्शन प्लान के आधार पर ठोस उपाय लागू करने की सलाह दे रहे हैं. भूस्खलन क्षेत्र नासूर बनकर उभरते हैं. भूस्खलन जोन नेताला सहित लालढांग, हेलगूगाड़ सहित सुक्क...