उत्तरकाशी

विश्व पर्यटन दिवस: वर्णावत शिखर तक ट्रेक रूट को विकसित करने को विधायक व डीएम ने दिखाई हरी झंडी

  • नीरज उत्तराखंडी

विश्व पर्यटन दिवस के अवसर पर वर्णावत शिखर तक ट्रेक रूट को विकसित करने के उद्देश्य से मंगलवार को विधायक सुरेश चौहान एवं डीएम अभिषेक रुहेला ने हरी झंडी दिखाकर पर्यटक दल को रवाना किया. जिला मुख्यालय पर स्थित बाबा काशी विश्वनाथ मंदिर से वरुणावत टॉप और संग्राली कण्डार देवता मंदिर तक करीब 4 किमी के ट्रेक को विकसित करने के लिए ट्रेकिंग की शुरुआत की गई है. ट्रेकिंग में स्वंय जिलाधिकारी अभिषेक रुहेला एवं काफी संख्या में स्थानीयजन और पर्यटक शामिल रहे. ग्रामीणों द्वारा वी टॉप में सभी पर्यटकों का स्वागत किया गया.

पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से उत्तरकाशी बस अड्डे से वर्णावत पर्वत शिखर के लिए नया ट्रेक रूट विकसित किया गया. यह ट्रेक रूट प्राकृतिक रूप से सुंदर एवं वनस्पतियों के बीच से गुजर रहा है. आने वाले समय में पर्यटन की दृष्टि से यह ट्रेंक रूट पर्यटकों के लिये लोकप्रिय बनेगा. – अभिषेक रुहेला, जिलाधिकारी

वी टॉप से उत्तरकाशी शहर सहित आसपास की पहाडियों और गांव का नजारा और उत्तरकाशी शहर के बीच में बह रही भागीरथी नदी का नजारा अद्भुत है.पर्यटन दिवस के अवसर पर  ग्राम संग्राली में तीन गांव के लोगों ने गढ़ भोज का आयोजन किया. साथ ही ग्रामीणों ने लोक नृत्य रासो, तांदी आदि नृत्य भी किया. इसके साथ ही गढ़वाल के पुरानी विरासत के सामग्रियों की प्रदर्शनी लगाई गई.  वहीं कार्यक्रम के अंत में संग्राली बैंड से उत्तकाशी जनपद मुख्यालय तक साइकलिंग रेस का भी आयोजन किया गया.

जिलाधिकारी अभिषेक रुहेला ने कहा कि पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से उत्तरकाशी बस अड्डे से वर्णावत पर्वत शिखर के लिए नया ट्रेक रूट विकसित किया गया. यह ट्रेक रूट प्राकृतिक रूप से सुंदर एवं वनस्पतियों के बीच से गुजर रहा है. आने वाले समय में पर्यटन की दृष्टि से यह ट्रेंक रूट पर्यटकों के लिये लोकप्रिय बनेगा. जिलाधिकारी ने कहा कि वरुणावत शीर्ष से उत्तरकाशी शहर का बेहद खुबसूरत नाजरा देखने को मिलता है. निश्चित ही पर्यटकों के लिए यह आकर्षण का केंद्र बनेगा.

क्षेत्रीय विधायक सुरेश चौहान ने विश्व पर्यटन दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए जिला प्रशासन,होटल एसोसिएशन,पर्यटन विभाग द्वारा नया प्रयास किया गया है. उत्तरकाशी तलहटी से वरूणावत पर्वत के शीर्ष तक पैदल ट्रेक रूट की खोज की है. आने वाले समय मे पर्यटन की दृष्टि से यह ट्रैक रूट पर्यटकों के लिये लोकप्रिय बनेगा. आने वाले समय मे ट्रेक रूट को औऱ विकसित करने का प्रयास किया जाएगा. ताकि सैलानियों और पर्यटकों के लिए यह आकर्षण का केन्द्र बन सके.

Share this:

Himantar Uttarakhand

हिमालय की धरोहर को समेटने का लघु प्रयास

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *