उत्तराखंड : शहीद शैलेंद्र को सैन्य सम्मान के साथ दी गई अंतिम सलामी

0
3

उत्तरकाशी : चीन सीमा पर शहीद हुए सैनिक शैलेन्द्र का बुधवार को सैन्य सम्मान के साथ उनके पैतृक घाट पर अंतिम संस्कार किया गया !गढ़वाल रायफल के गढ़वाल स्काउट में कुमराडा गांव निवासी शैलेंद्र कठैत का सैनिक सम्मान के साथ उनके पैतृक घाट कुमराड़ा में बुधवार को अंतिम संस्कार कर दिया गया। सैकड़ों ग्रामीणों ने नम आंखों से उन्हें अंतिम विदाई देकर श्रद्धांजली दी। सैनिक शैलेंद्र कठैत (28) पुत्र कृपाल सिंह की चीन बॉर्डर के गोल्डुंग पोस्ट नितीपास बॉर्ड पर पेट्रोलियम ऑपरेशन के दौरान पैर फिसलने से 15 जनवरी को मौत हो गई थी।

बुधवार को दो दिन बाद सेना के वाहन से सुबह 9 बजे पार्थिव शरीर को श्रीनगर से चिन्यालिसोड लाया गया जहा व्यापार मंडल चिन्यालीसौर व पिपलमण्डी के व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठान बंद कर पार्थिव शरीर पर फूल वर्षा की।।
इसके बाद पंचायत भवन कुमाराडा के बाहर पूर्ण सुरक्षा के साथ जवान शैलेंद्र के पार्थिव शरीर वाली फौज की गाडी़ को घर से कुछ दूर पहले ही खड़ा कर दिया गया था।

जैसे ही जवान का पार्थिव शरीर उनके पैतृक घर पर पहुंचा तो हर तरफ चीख-पुकार से गांव का माहौल एकदम गमगीन हो गया। अपने पति की पार्थिव देह को तिरंगे में लिपटी देखकर पत्नी अंजू देवी बेसुध हो गईं। लगभग ग्यारह बजे गढ़वाल स्काउट की 36 जवानों की टुकड़ी के पीछे चलती गाड़ी में रखी जवान शैलेंद्र की अंतिम यात्रा शुरू हुई। टीम ने जवान बलवीर चंद को अंतिम सलामी दी।

शैलेन्द्र के बड़े बेटे विशाल सिंह ने अपने पिता की पार्थिव देह को मुखाग्नि दी। जिला पंचायत अध्यक्ष दीपक बिजलवान स्थानीय विधायक संजय डोभाल , डुंडा एस डी एम बृजेश तिवारी ,मेजर अमन,नायब सूबेदार नेत्र सिंह ने जवान की पार्थिव देह पर पुष्प गुच्छ अर्पित किए। इस मौके पर जिला पंचायत अध्यक्ष दीपक बिजलवान, ग्राम प्रधान विनोद पुरसोडा , सुमन बडोनी, विजय बडोनी,मनोज कोहली, उदय पाल परमार आदि उपस्थित रहे। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here