उत्तराखंड : इतनी ऊंचाई पर नजर आया बाघ, वन विभाग भी हैरान

0
4

अल्मोड़ा : वन विभाग अब तक जिस बात को नामुमकिन बता रहा था, उस पर अब खुद वन विभाग ने मुहर लगा दी है। अपने तरह के पहली घटना सामने आने के बाद विभाग के अधिकारी भी हैरान हैं। तीन दिन पहले जागेश्वर में 6 हजार फीट की ऊंचाई पर बाघ देखे जाने के बाद वन विभाग के अधिकारी और जानकार हैरान थे। इतने ठंडे इलाके में बाघ के देखे जाने को वन विभाग नामुमकिन बता रहा था। लेकिन, घटना के 3 बाद ही एक बार फिर बाघ नजर आया है। अबकी बार बाघ 7 हजार फीट की ऊंचाई पर नजर आया है।

जागेश्वर के शौकियाथल में छह हजार फुट की ऊंचाई पर बाघ नजर आने के ठीक तीन दिन बाद सात हजार फुट की ऊंचाई पर स्थित अल्मोड़ा जिले के बिनसर में फिर बाघ दिखा है। बिनसर में बाघ की चहलकदमी को डीएफओ ने खुद अपने कैमरे में कैद किया है। जिसके बाद ये साफ हो गया है कि क्षेत्र में बाघ सक्रिय है।

पहली बार प्रदेश में बाघ की इतनी ठंड वाले इलाके में सक्रियता से वन विभाग हैरान है। बता दें कि तीन दिन पहले अल्मोड़ा जिले के जागेश्वर के शौकियाथल क्षेत्र में बाघनजर आया था। जिसका वीडियो भी स्थानीय युवकों ने बनाया था। लेकिन तब वन विभाग यहां बाघ होने की बात को नामुमकिन बता रहा था। लेकिन एक बार फिर से बिनसर में बाघ नजर आया है। जिसके बाद से विभाग हैरत में पड़ गया है।

बाघ की सक्रियता से वन विभाग हैरान है। इससे स्थानीय लोगों में डर का माहौल है। वन विभाग ने एतियात बरतते हुए जागेश्वर, कनारीछीना, बिनसर, ताकुला क्षेत्र के 20 से अधिक गांवों में लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए अलर्ट जारी कर दिया है। हालांकि विभाग का कहना है कि जागेश्वर और बिनसर में नजर आने वाला बाघ एक ही है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here