उत्तराखंड: मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने परखी चुनावी तैयारियां, अधिकारियों को दिए निर्देश

0
0

देहरादून : मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. बीवीआरसी पुरूषोतम ने लोकसभा सामान्य निर्वाचन-2024 के दृष्टिगत टिहरी लोकसभा क्षेत्रान्तर्गत निर्वाचन तैयारियों को लेकर ऋषिपर्णा सभागार कलेक्ट्रेट में बैठक लेते हुए निर्वाचन हेतु की गई तैयारियों को परखा। इस दौरान मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने स्वीप के तहत् जनपद देहरादून में मतदाता जागरूकता वैन को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। यह वैन जनपद के कम मतदान प्रतिशत् वाले बूथों पर जागरूकता लाते हुए मतदाताओं को मतदान हेतु प्रेरित करेगी।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने निर्देशित किया कि वोटर लिस्ट अपडेशन कार्यों की आरओ, एआरओ अपने स्तर पर मॉनिटिरिंग करें, ताकि मतदाता सूची में किसी प्रकार की त्रुटि न रहे। रिटर्निंग अधिकारी निर्विवादित, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्वक निर्वाचन हेतु प्रत्येक गतिविधि की अपने स्तर से मॉनिटिरिंग करें। निर्वाचन कार्यालय एवं निर्वाचन हेतु बनाए गए कन्ट्रोल रूम में सक्रिय कार्मिकों को बिठाया जाए जो त्वरित प्रक्रिया दें।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने टिहरी लोकसभा क्षेत्रान्तर्गत आरओ देहरादून, आरओ टिहरी एवं आरओ उत्तरकाशी को निर्देश दिए कि अपने-अपने क्षेत्रान्तर्गत कम वोट प्रतिशत् वाले बूथों पर बीएलओ के माध्यम से डोर-टू-डोर कैम्पेन चलायें तथा जनपद वोटर जागरूकता हेतु बनाए गए ब्रांड एम्बेस्डरों के माध्यम से मतदाताओं को मतदान हेतु जागरूक करें। उन्होंने इस कार्य में क्षेत्र के स्थानीय गणमान्य, बुजुर्ग एवं स्याणों के माध्यम से मतदाताओं को जागरूक करने को कहा।

निर्वाचन में लगे कार्मिकों को आयोग के निर्देशानुसार निर्धारित प्रक्रिया के तहत् मतदान करायें। उन्होंने निर्देशित किया कि चुनाव ड्यूटी में लगे कोई भी कार्मिक मतदान से वंचित न रहे, इसके लिए निर्वाचन आयोग की गाईडलाईन के अनुसार व्यवस्थाएं बनाई जाएं। ऐसे छात्र/छात्राएं जो पढ़ाई के लिए जनपद में आए हैं, तथा उनका वोट अन्य जिले में है उनको मतदान हेतु प्रेरित करने के लिए विद्यालय/संस्थान प्रशासन का सहयोग लिया जाए। विद्यालयों एवं संस्थानों में मतदाता शपथ दिलवाई जाए।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने निर्देश दिए कि मतदान बूथ पर भारत निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों के अुनसार मूलभूत सुविधा पेयजल, शौचालय, रैम्प, विद्युत व्यवस्था, फर्नीचर, मैदानी क्षेत्रों में व्हीलचैयर तथा पहाड़ी क्षेत्र में डोली, कण्डी आदि की व्यवस्था रहे। 80 प्लस तथा दिव्यांग वोटर्स के लिए निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार व्यवस्था रहे।

उन्होंने भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी कलैण्डर के अनुसार गतिविधियां आयोजित करने के निर्देश भी दिए। उन्होेंने आरओ, एआरओ हैण्डबुक का अध्ययन करते हुए निर्वाचन के दौरान की जाने वाली सभी व्यवस्थाओं एवं अपने दायित्वों को भलीभांति समझते हुए दायित्वों का निर्वहन करें।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने निर्वाचन को प्रभावित करने वाली गतिविधियों की सूचनाओं पर बारीकी से नजर रखते हुए स्थैटिक टीम, फ्लाईंग स्कॉट टीमों को सक्रिय रखने, शराब बांटने, नकदी बांटने आदि सूचनाओं पर त्वरित कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने पुलिस विभाग एवं आबकारी विभाग को समन्वय से कार्य करते हुए शराब आदि मादक पदार्थों के अवैध बिक्री/परिवहन पर नजर रखने के निर्देश दिए।

उन्होंने आबकारी विभाग को शराब की दुकानों के बिक्री रजिस्टर, स्टॉक आदि का मिलान करने तथा यदि किसी दुकान क्षेत्र में शराब की दुकान पर बिक्री बढी है तो वह भी जांच करा ली जाए। उन्होंने जनपद में लाईसेंसी शस्त्रों की संख्या आदि के सम्बन्ध में असला बाबू की सूची से मिलान करवाते हुए असला जमा करवाने की कार्यवाही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here