Home Posts tagged Save daughter
कविताएं

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ!

सुधा भारद्वाज “निराकृति” अबोध भूली बाल स्वभाव वह… बहती थी सरिता सम वह… क्या सोच उसे समाज की… कुछ अजब रूढ़ी रिवाज की… परिणाम छूटी शि क्षा उसकी… नही हुई पूरी कोई आस उसकी… सपने देखे बहुत बड़े-बड़े थे… रिश्ते तब सब आन अड़े थे… छूट गयी सभी सखी