• हिमांतर ब्‍यूरो, नोएडा

ग्रेटर नोएडा वेस्ट स्थित एस एस्पायर सोसायटी के निवासियों ने शनिवार को दूषित पानी सप्लाई का आरोप लगाते हुए मेंटनेंस का घेराव किया. सोसायटी के करीब 25-30 परिवारों के बच्चों को पिछले पांच-छह दिनों से उल्टी, दस्त और पेट में संक्रमण की शिकायत हो रही है. डॉक्टरों ने बच्चों के बीमार पड़ने की वजह दूषित पानी बताया है, जिसके बाद निवासियों ने जनरल मैनेजर अभिषेक यादव का घेराव किया. निवासी घरों में सप्लाई होने वाले पानी से बदबू आने की शिकायत भी कर रहे हैं. बार-बार मेंटनेंस से गुहार लगाने के बाद भी जब पानी के सैंपल की जांच नहीं कराई गई, तो आक्रोशित लोगों ने एओए के साथ मिलकर जनरल मैनेजर का घेराव किया और स्वच्छ पानी सप्लाई की मांग की.

निवासियों का कहना है कि बिल्डर ने मार्च से अब तक पानी के सैंपल की जांच ही नहीं कराई है. यह बात भी सामने आई है कि पिछले एक हफ्ते से मेंटनेंस की तरफ से अथॉरिटी के सप्लाई पानी को भी रोक दिया गया था. बोरवेल से आने वाले गंदे पानी की सप्लाई घरों में की जा रही थी. निवासियों ने बिल्डर पर पानी के ट्रीटमेंट में लापरवाही का आरोप लगाया है. मेंटनेंस से हर महीने पानी के सैंपल की जांच कर सोसायटी निवासियों के साथ साझा करने की मांग की गई है.

बाहर से पानी खरीद कर पी रहे हैं निवासी

प्रदीप गुप्ता का कहना है कि उनके घर में सभी लोगों को उल्टी, दस्त और पेट में संक्रमण की शिकायत है. दूषित पानी की बात सामने आने के बाद वह खरीद कर पानी पी रहे हैं. तूलिका करमकार ने बताया कि उनके छह महीने के बच्चे को दस्त हो रहे हैं. 10 साल का बच्चा काफी दिनों से पेट में दर्द की शिकायत कर रहा है. डॉक्टर के सलाह के बाद सभी लोग उबाल पानी पी रहे हैं.

अरविंद कुमार का कहना है कि उनकी डेढ़ साल की बेटी और ग्यारह साल के बेटे को उल्टी, दस्त और पेट में दर्द की शिकायत हो रही है. पिछले पांच-छह दिनों से दवाई चल रही है. पत्नी और मुझे भी पेट में संक्रमण हो रहा है, जिसकी वजह से उबाल कर पानी पी रहे हैं. सुदीप साहु का कहना है कि उनकी बेटी रातभर उल्टी और दस्त से त्रस्त रही. वह खरीद कर पानी पी रहे हैं. अभिषेक कुमार का कहना है कि उनके पांच साल के बेटे की तबियत खराब है. पिछले काफी दिनों से उल्टी और दस्त हो रहे हैं. वह बाहर से खरीद कर पानी पी रहे हैं. उन्होंने बताया कि बच्चों के साथ ही बुजुर्ग भी उल्टी-दस्त की शिकायत से जूझ रहे हैं.

सोसायटी निवासी आंचल शर्मा का कहना है कि उनकी ढाई साल की बेटी पिछले तीन दिन से बीमार है. उल्टी-दस्त की शिकायत के बाद उसकी दवाई चल रही है.

Share this:
About Author

Himantar

हिमालय की धरोहर को समेटने का लघु प्रयास

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *