उत्तराखंड : स्मृति ने सिविल सर्विसेज की पढ़ाई छोड़ माॅडलिंग में बनाया करियर

0
17

हुनर और प्रतिभा कभी छुपती नहीं है। ऐसी ही प्रतिभा की हुनर है उत्तरकाशी जिले के नौगांव ब्लाॅक की स्मृति सिलवाल। स्मृति ने नौगांव से माया नगरी मुंबई तक का सफर तय किया है। उन्होंने माया नगरी में माॅडलिंग में अपना करियर बनाया। यह आसान नहीं होता कि एक छोटे से गांव से निकलकर आप सपनों के शहर में अपने सपने का साकार करो। आज नौगांव की स्मृति सिलवाल उस मुकाम पर हैं, जिसके बारे में जानकार हर उत्तराखंडी को उन पर गर्व महसूस जरूर होगा। पहाड़ की इस बेटी चैनल वी के रिएलिटी टीवी शो मेगा मॉडल ग्लैडरैग्स में अपनी कला और प्रतिभा का बखूबी परिचय दिया। स्मृति अभी तक कई शो और माडलिंग इवेंट कर चुकी हैं।

सिविल सर्विसेज की पढ़ाई छोड़ी 

सिविल सर्विसेज की पढ़ाई छोड़कर माडलिंग के फील्ड में करियर बनाना स्मृति के लिए मुश्किल तो था, लेकिन नामुमकिन नहीं। स्मृति ने ठान लिया था कि उसे मुंबई में जाकर कुछ ऐसा करना है कि पहाड़ को अपनी इस बेटी पर गर्व हो। घर से कोसों दूर एक अलग दुनिया में जाकर काम करना काफी मुश्किल था। वह भी तब जब इस फील्ड में अपना कोई गाड फादर नहीं था। कई बार मुश्किलें आईं, रिजेक्शन मिले, लेकिन मजबूत इच्छाशक्ति ने कभी झुकने नहीं दिया।

आसान नहीं था माॅडलिंग का सफर 

स्मृति ने माॅडलिंग की दुनिया में कदम रखते ही यह ठान लिया था कि झुकना नहीं है, केवल आगे बढ़ना है। फिल्म और माॅडलिंग की दुनिया में उत्तराखंड के कई सितारे अपनी चमक बिखेर रहे हैं। उत्तरकाशी के छोटे से गांव नौगांव निवासी स्मृति के लिए माडलिंग की दुनिया का सफर आसान नहीं था। लेकिन, यदि प्रतिभा हो तो तमाम अभाव और परेशानियों को मात दी जा सकती है और इस बात को स्मृति ने सही साबित करके दिखाया है। एक सामान्य परिवार से होने के बावजूद आज स्मृति जहां माडलिंग और एक्टिंग के क्षेत्र में मजबूत इरादों और हौसलों के साथ अपनी एक अलग पहचान बना चुकी हैं।

ब्रांड एंबेसडर

स्मृति मल्टी मीडिया डाट काम सोसाइटी आर्गनाजेशन की ब्रांड एंबेसडर भी हैं। यह संस्था स्वास्थ्य, शिक्षा, पर्यावरण व यातायात संबंधी जागरूकता के लिए कार्य करती है। इसके अलावा वह मुंबई में जरूरतमंद बच्चों की शिक्षा, स्वास्थ्य व भोजन संबंधी आवश्यकताएं पूरी कर समाजसेवा भी कर रही हैं। मुंबई में एक थिएटर ग्रुप से जुड़ी स्मृति ने श्अपने-अपने दांव्य प्ले में अहम भूमिका निभाई है। इसके अलावा चैनेल वी के रिएलिटी टीवी शो मेगा माडल ग्लैडरैग्स में अपनी कला और प्रतिभा का परिचय बखूबी दे चुकी हैं।

सामान्य परिवार से ताल्लुक

अभिनेता जॉन अब्राहम, डिनो मौर्या व अभिनेत्री कंगना रनौत को स्टार बनाने वाली ग्लैडरैग्स अकेडमी में स्मृति के ब्यूटी विद ब्रेन को खूब सराहा गया। इसके अलावा वह अब तक कई ब्रांड के लिए भी काम कर चुकी हैं। बेहद सामान्य परिवार से ताल्लुक रखने वाली स्मृति की माता अरुणा व पिता बाबूराम सिलवाल हैं। खास बात यह है कि चार भाई बहनों में अलग करने की ख्वाहिश लेकर स्मृति ने हौसलों के दम पर ग्लैमर जगत में कदम रखा।

आत्मविश्वास और बुलंद हौसला 

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर स्मृति ने कहा कि उत्तराखंड की महिलाओं का इतिहास हमेशा से गौरवशाली रहा है। हम सौभाग्यशाली हैं कि हमें देवभूमि में जन्म लेने का मौका मिला। स्मृति ने कहा कि पहाड़ से निकलकर ग्लैमर की दुनिया में कदम रखना उनके लिए बिल्कुल आसान नहीं था। उन्होंने बताया कि जब वह मुंबई गईं तो माडलिंग के बारे में उन्हें गाइड करने वाले कोई नहीं था, लेकिन आत्मविश्वास व बुलंद हौसलों ने हमेशा से ही उनका मार्गदर्शन किया है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here