देश—विदेश

मछुआरों के जाल में फंसी दुनिया की सबसे बड़ी मछली, सुरक्षित समुद्र में छोड़ा गया

आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के विशाखापत्तनम (Visakhapatnam) में तांताडी समुद्र तट (Tantadi beach) पर मछली पकड़ने के जाल में दुनिया की सबसे बड़ी मछली व्हेल शार्क फंस गई. इसके बाद कुछ स्थानीय मछुआरों ने जाल में फंसी 50 फीट लंबी मछली को फिर से समुद्र में छोड़ दिया. जिला वन अधिकारी (DFO) अनंत शंकर (Anant Shankar) ने इसकी जानकारी दी. DFO ने बताया कि वन विभाग, मछुआरों और वन्यजीव संरक्षणवादियों के जबरदस्त कॉर्डिनेशन और सहयोग से 2 टन की व्हेल शार्क (Whale Shark) को समुद्र में वापस भेजा गया.

अनंत कुमार ने कहा, यह एक व्हेल शार्क है, जो दुनिया की सबसे बड़ी मछली है. ये संकटग्रस्त मछली भी हैं. उन्होंने कहा कि डीएफओ के निर्देश बिल्कुल सरल थे. व्हेल शार्क (World biggest Fish) को सुरक्षा के लिए मार्गदर्शन करें, बिना किसी प्रयास या खर्च. उन्होंने कहा कि इस 2 टन वजनी मछली को जीवित समुद्र में वापस भेजने के लिए वन विभाग, मछुआरों और वन्यजीव संरक्षणवादियों के जबरदस्त समन्वय और सहयोग के साथ, शारीरिक और मानसिक दोनों तरह के कठोर प्रयास हुए. ये पूरी तरह से एक सफलता थी. व्हेल शार्क सफलतापूर्वक वापस समुद्र की गहराई में जा चुकी है.

व्हेल शार्क की तस्वीरें भेजी गईं मालदीव

जिला वन अधिकारी ने कहा, ‘पहचान के लिए व्हेल शार्क की तस्वीरें अब मालदीव (Maldives) में शार्क अनुसंधान दल के साथ शेयर की गई हैं. इससे हमें इन्हें बेहतर ढंग से समझने में मदद मिलेगी.’ उन्होंने कहा, मछुआरों को सलाह दी जाती है और अनुरोध किया जाता है कि ऐसी स्थिति में बचाव और सुरक्षित रिहाई के लिए सीधे वन विभाग से संपर्क करें, क्योंकि इस तरह के कार्यों में समय का महत्व होता है. यदि व्हेल शार्क को छोड़ने या इसके फंसने की वजह से मछुआरों के जाल को किसी भी तरह के नुकसान का सामना करना पड़ा है, तो उन्हें इस मामले में मुआवजा दिया जाएगा.

डॉटेड व्हेल शार्क को कहा जाता है ‘जेंटल जाइंट’

इस साल की शुरुआत में मार्च में, ओडिशा में मछुआरों ने दो बार व्हेल शार्क को बचाया था. ओडिशा तट कछुए, व्हेल और शार्क जैसे समुद्री जीवों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है. डॉटेड व्हेल शार्क समुद्र की सबसे बड़ी मछली है और इसे अक्सर मछली पकड़ने की भाषा में ‘जेंटल जाइंट’ कहा जाता है. व्हेल शार्क वन्य जीवन (संरक्षण) अधिनियम, 1972 के तहत एक संरक्षित प्रजाति हैं और नेचर्स की लाल सूची के संरक्षण के लिए अंतरराष्ट्रीय संघ का भी हिस्सा हैं. व्हेल शार्क एक ‘फिल्टर फीडर शार्क’ है जिसका अर्थ है कि यह अन्य शार्क की तरह मांस नहीं खाती है. व्हेल शार्क समुद्री जल को छानती हैं और छोटे प्लवकों को खाती हैं.

Share this:

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *