देश—विदेश

बीरभूम हिंसा में TMC नेता और मुख्य आरोपी अनारूल हुसैन गिरफ्तार

पश्चिम बंगाल के बीरभूम (Birbhum Violence Case) में आठ लोगों को जिंदा जलाने के मामले में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) के आदेश के तुरंत बाद हिंसा के मुख्य आरोपी अनारूल हुसैन को गिरफ्तार (Anarul Hussain Arrested) कर लिया गया है. जानकारी के मुताबिक तृणमूल कांग्रेस पार्टी के नेता अनारूल को तारापीठ से गिरफ्तार किया गया है. अनारूल 1998 में कांग्रेस पार्टी छोड़कर तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुए थे. इस मामले पर TMC प्रवक्ता कुणाल घोष (Kunal Ghosh)ने कहा, “अनारूल की खोज पहले से चल रही थी. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने निर्देश दिया था. उनकी तलाश चल रही थी. इससे यह साबित होता है कि TMC कोई रंग नहीं देखती है.”

बीरभूम के टीएमसी के नेताओं ने सीएम ममता बनर्जी से अनारूल की शिकायत की थी उसके बाद सीएम ममता बनर्जी के निर्देश के बाद अनारूल को 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार कर लिया गया. सीएम के निर्देश के बाद वह अपने घर से फरार हो गया था उसे तारापीठ से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया गया. वहीं इस घटना पर कलकत्ता हाई कोर्ट ने स्वत: संज्ञान लिया और गुरुवार को 24 घंटा निगरानी के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाने का निर्देश दिया था. कोर्ट के आदेश का पालन करते हुए हिंसा प्रभावित इलाके में सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं. गुरुवार को हाईकोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा था कि, सच सभी के सामने जरूर आना चाहिए. साथ ही राज्य सरकार को भी निर्देश दिए गए हैं कि वो गवाहों को सुरक्षा मुहैया कराए.

हिंसा वाले इलाके में किसी भी चीज से छेड़छाड़ नहीं करने के निर्देश

इसके अलावा जहां इस हिंसा को अंजाम दिया गया, वहां किसी भी चीज से छेड़छाड़ नहीं करने के निर्देश भी जारी किए गए थे. हाईकोर्ट ने कहा था कि, इसके लिए कैमरे लगाए जाएं. टीएमसी सांसद सुदीप बंद्योपाध्याय ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की. इसके बाद सुदीप ने कहा, ‘हमने रामपुरहाट, बीरभूम की घटना को देखते हुए पश्चिम बंगाल के राज्यपाल को हटाने की मांग की है. उनका काम हमारी संवैधानिक व्यवस्था के खिलाफ है. संसदीय लोकतांत्रिक व्यवस्था खतरे में है.TMC सांसद सुदीप बंद्योपाध्याय ने आगे कहा, हमने राज्यपाल के लिए सीएम के पत्र की एक कॉपी गृह मंत्रालय को दी है .हमारे सीएम अच्छे तरीके से स्थिति को संभाल रहे हैं.

Share this:

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *