तीन धामों के मार्ग बंद, उत्तराखंड में भारी बारिश का अलर्ट

देहरादून: मौसम का मिजाज बिगड़ा हुआ है। मानसून जब से शुरू हुआ है। तब से ही भारी बारिश का सिलसिला लगातार जारी है। वहीं, आज भी मौसम विभाग ने कुछ जिलों के लिए येला और ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। ऐसे में लोगों को सतर्क रहने की सलाह भी दी गई है।

मौसम विभाग के अनुसार चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर, चंपावत और नैनीताल जिले के कई इलाकों में बिजली चमकने के साथ ही भारी बारिश हो सकती है। केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि अगले कुछ दिन पूरे राज्य में तेज बारिश और बिजली चमकने के आसार हैं। बारिश से होने वाले भूस्खलन से संवेदनशील इलाकों में सड़क मार्ग और राजमार्ग अवरुद्ध हो सकते हैं। ऐसे में मौसम की सटीक जानकारी लेने के बाद ही यात्रा की योजना बनाए।

यमुनोत्री धाम सहित यमुना घाटी में रात से हो रही बारिश से यमुना नदी, हनुमान गंगा, बडियार नदी उफान पर चल रही है। उधर, पिथौरागढ़ जिले के धारचूला में काली नदी चेतावनी स्तर से ऊपर बह रही है। राज्य में अब भी 296 सड़कें बंद हैं। पर्वतीय क्षेत्रों में लगातार हो रही बारिश के कारण राष्ट्रीय राजमार्ग 94डाबराकोट, खराद़ी और किशाला में तीन जगह बंद है। इसके अलावा 12 स्टेट हाईवे, आठ मुख्य जिला मार्ग, तीन जिला मार्ग, 139 ग्रामीण सड़कें और 133 पीएमजीएसवाई की सड़कें बंद हैं।

मनेरी-सिलकुरा के समीप गंगोत्री हाईवे पर भू-कटाव शुरू हो गया है। हाईवे का करीब पांच से सात मीटर हिस्सा धंस गया है। वहीं सड़क के अंदर से पानी रिस रहा है। भारी बारिश से कर्णप्रयाग सहित पिंडर घाटी में जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है। कर्णप्रयाग में उमा महेश्वर आश्रम के पास बदरीनाथ हाईवे पर रात नौ बजे पहाड़ी से भारी मात्रा में मलबा आने के कारण सड़क बंद है।

बदरीनाथ हाईवे पर कमेड़ा में सड़क खोलने का काम जारी है। कर्णप्रयाग-ग्वालदम हाईवे नलगांच, नारायणबगड़ में परखाल तिराहा, हरमनी, मल्यापौड़ व बैनोली बैंड में मलबा आने से बंद है। नादायणबगड़ में अस्पताल के सामने मलबा भर गया है। साथ ही चार दुकानों के अंदर मलबा व पानी चला गया है।

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *