देश—विदेश

बंगाल की खाड़ी में हलचल और कश्मीर के ऊपर विक्षोभ से बदलेगा देशभर का मौसम

जम्मू-कश्मीर के ऊपर बना पश्चिमी-विक्षोभ और बंगाल की खाड़ी में बने चक्रवाती हवाओं की संरचना की वजह से भारत के कई राज्यों में बारिश की संभावना है. दिल्ली में इसका असर अभी से दिखने लगा है. राजधानी के कई इलाकों में बारिश का सिलसिला शुरू हो गया है. मौसम विभाग के मुताबिक 10 जनवरी तक राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कई मैदानी इलाकों वाले राज्यों में बारिश हो सकती है. वहीं कुछ राज्यों में ओले भी पड़ सकते हैं. दिल्ली के ऊपर बादल छाए हुए हैं, ऐसे में विभाग का मानना है कि अगले 5 दिनों में यहां भारी बारिश का दौर भी देखने को मिल सकता है.

इससे राजधानी के तापमान में गिरावट की संभावना है. वहीं, पहाड़ी इलाकों जैसे जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड में बर्फबारी का सिलसिला अभी जारी रहने की उम्मीद है. मौसम विभाग के मुताबिक जम्मू-कश्मीर में 8 जनवरी तक मध्यम से भारी बर्फबारी या बारिश हो सकती है. इस दौरान कुछ स्थानों पर भारी हिमपात की भी संभावना है.

दिखेगा पश्चिमी विक्षोभ का असर, इन राज्यों में होगी बारिश

जम्मू और कश्मीर पर सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ बना हुआ है. इसकी वजह से अगले 24 घंटों में राजस्थान और उसके आसपास के इलाकों में एक चक्रवाती परिसंचरण के बनने की उम्मीद है. यही नहीं इसके बाद उत्तर भारत के कई राज्यों में एक और मजबूत चक्रवाती परिसंचरण के बनने की पूरी संभावना है.

मौसम में होने वाले इस बदलाव के कारण 10 जनवरी तक दिल्ली, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश के कुछ इलाके, पंजाब, हरियाणा समेत कई अन्य राज्यों में व्यापक बारिश देखने को मिल सकती है. इसके अलावा तमिलनाडु के तटीय इलाकों में हल्की बारिश की संभावना है. वहीं, जम्मू कश्मीर, लद्दाख और हिमाचल प्रदेश में हल्की बारिश और बर्फबारी संभव है.

मौसम विभाग के मुताबिक दिल्ली में अगले 5 दिनों में हल्की और तेज हवाओं के साथ रुक-रुक कर मध्यम बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ने की उम्मीद है. हालांकि, हल्की बारिश की बौछारें 09 जनवरी के बाद भी जारी रह सकती हैं. अगले सप्ताह के मध्य में खराब मौसम में आराम मिलेगा. मौसम विज्ञान विभाग ने 10 जनवरी तक आंशिक रूप से बादल छाए रहने और कई इलाकों में लगातार बारिश का पूर्वानुमान लगाया है.

राजस्थान और मध्य प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में अगले 48 घंटों के दौरान बारिश की पूरी संभावना है. इस दौरान राजस्थान में छिटपुट ओलावृष्टि की संभावना है. मध्य प्रदेश के पश्चिमी हिस्सों में 7 जनवरी से बारिश कम होने लगेगी. 7 जनवरी को पूर्वी मध्य प्रदेश के छत्तीसगढ़ और विदर्भ के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश हो सकती है. दिन के तापमान में 2-4 डिग्री की गिरावट आएगी.

कश्मीर में लगातार हो रही बर्फबारी

कश्मीर में लगातार बर्फबारी हो रही है. यहां 40 दिन का ‘चिल्लई कलां’ का दौर 21 दिसंबर से शुरू हुआ था. इस दौरान क्षेत्र में कड़ाके की ठंड पड़ती है और तापमान में भी गिरावट दर्ज की जाती है, जिससे यहां की प्रसिद्ध डल झील के साथ-साथ घाटी के कई हिस्सों में पानी की आपूर्ति लाइनों सहित जलाशय जम जाते हैं.

इस दौरान अधिकतर इलाकों में बर्फबारी की संभावना भी सबसे अधिक रहती है, खासकर ऊंचाई वाले इलाकों में, भारी हिमपात होता है. ‘चिल्लई कलां’ के 31 जनवरी को खत्म होने के बाद, 20 दिन का ‘चिल्लई-खुर्द’ और फिर 10 दिन का ‘चिल्लई बच्चा’ का दौर शुरू होता है.

Share this:

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *