देश—विदेश

धर्म के नाम पर बनाया जा रहा तनाव और नफरत का माहौल- BSP सुप्रीमो मायावती

यूपी विधानसभा चुनाव के लिए दूसरे दलों की तरह बीएसपी ने भी अपनी कमर कस ली है. यही वजह है कि चुनाव प्रचार के लिए बीएसपी सुप्रीमो मायावती आज ग़ाज़ियाबाद (Mayawati Ghaziabad Rally) पहुंची हैं. गाजियाबाद के कविनगर में मायावती एक चुनावी जनसभा को संबोधित कर रही हैं. इस जनसभा के जरिए बीएसपी (BSP) की मेरठ मंडल की सभी 28 विधानसभा सीटों को साधने की कोशिश है. मायावती की इस चुनावी जनसभा में मेरठ मंडल के बीएसपी के सभी प्रत्याशी मौजूद हैं.

चुनावी जनसभा (Election Campaign) को संबोधित करते हुए मायावती ने बीजेपी (BJP) पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार की नीतियां और कार्यशैली ज्यादातर जातिवादी, पूंजीवादी और आरएसएस (RSS) के संकीर्ण नजरिए को लागू करने पर टिकी रही हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी की नीतियों की वजह से राज्य में धर्म के नाम पर तनाव और नफरत का वातावरण बनाया जा रहा है.

‘धर्म के नाम पर नफरत फैलाने की कोशिश’

यूपी में आगामी विधानसभा चुनाव के लिए इन दिनों बीजेपी, सपा समेत सभी दल पूरी तरह से एक्टिव हैं. अब बीएसपी की मैदान में डटकर सामना कर रही है. बीएसपी सुप्रीमो मायावती आज खुद गाजियाबाद में जनता के बीच पहुंचीं. इस दौरान उन्होंने राज्य की योगी सरकार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने बीजेपी पर धर्म के नाम पर नफरत फैलाने का आरोप लगाया. इसके साथ ही मायावती ने बीजेपी को पूंजीपतियों और RSS के लिए काम करने वाली पार्टी करार दिया.

‘रोजगार देने में विफल ये सभी दल’

चुनावी जनसभा के दौरान मायावती ने बीजेपी के साथ ही कांग्रेस और सपा पर भी जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि ये सभी दल लोगों को रोजगार देने में विफल रहे, इसी वजह से यूपी के लोगों को रोजगार की तलाश में दूसरे राज्यों में पलायन करना पड़ा. मायावती ने अपनी सरकार की तारीफ करते हुए कहा की बीएसपी सरकार इकलौती ऐसी सरकार है, जिसमें किसी ने पलायन नहीं किया, बल्कि दूसरे राज्यों से लोग वापस यूपी में आए. बता दें कि एक तरफ मायावती बीजेपी पर हमलावर हैं, तो वहीं दूसरी तरफ बीजेपी भी सपा और बसपा पर हमला बोलने का कोई मौका हाथ से नहीं जाने दे रही है. बुलंदशहर में अमित शाह यूपी की पुरानी सरकारों पर जमकर हमला बोल रहे हैं.

Share this:

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *