देश—विदेश

बिहार में ‘सब-रजिस्ट्रार’ के 3 ठिकानों पर छापेमारी, भारी मात्रा में नगदी बरामद

बिहार सरकार (Bihar Government) भ्रष्टाचार समाप्त करने के लिए एक्शन में है. यही वजह है कि बिहार में आए दिन भ्रष्ट अधिकारियों के घरों पर छापेमारी हो रही है, और उनकी काली कमाई उजागर हो रही है. साथ ही उनपर कार्रवाई भी हो रही है. समस्तीपुर के सब रजिस्‍ट्रार मणि रंजन के मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर और पटना स्थित तीन ठिकानों पर विजिलेस की अलग-अलग टीमों ने एक साथ छापेमारी की है. आय से अधिक सम्‍पत्ति के आरोप में की गई इस छापामारी में आर्थिक अपराध इकाई और निगरानी अन्वेषण की एसयूवी (SUV) टीम शामिल है. अलग-अलग टीमें सुबह आठ बजे एक साथ तीनों जिलों में स्थित सब रजिस्‍ट्रार के ठिकानों पर पहुंची है.

विशेष निगरानी इकाई ने 16 दिसंबर को सब रजिस्ट्रार मणि रंजन के खिलाफ आय से अधिक एक करोड़ 62 लाख 36 हजार ₹926 की संपत्ति अर्जित करने का केस दर्ज किया है. मणि रंजन अभी समस्तीपुर जिले के निबंधन कार्यालय में तैनात हैं. पटना और मुजफ्फरपुर में भी उनके आवास हैं. बताया जा रहा है कि छापेमारी में सब रजिस्‍ट्रार के घर से बड़ी मात्रा में कैश मिला है.

मुजफ्फरपुर के कोल्हुआ आवास पर पहुंची SVU

मुजफ्फरपुर के अहियापुर थाना क्षेत्र के कोल्हुआ स्थित आवास पर छह सदस्यीय टीम छापेमारी कर रही है. हालांकि घर में कौन है और नहीं है इसकी जानकारी अभी नहीं हो सकी है. छापामारी के दौरान घर के आसपास सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. बिहार एसटीएफ के जवानों को घर के बाहर तैनात किया गया है. किसी को भी घर के अंदर और घर से बाहर जाने देने की इजाजत नहीं है.

समस्तीपुर के मगरदही स्थित तुलसी कुंज में छापेमारी

तो वहीं समस्तीपुर के मगरदही स्थित तुलसी कुंज शंकर सदन में छापेमारी में कई अधिकारी मौजूद है. बताया जाता है कि आय से अधिक संपत्ति मामले में सब रजिस्ट्रार के यहां पहले सुबह निगरानी की विशेष टीम ने छापेमारी कर रही है.छापेमारी के बाद इलाके में हड़कंप मचा है. हलांकि कोई अधिकारी कुछ भी बोलने से परहेज कर रहे हैं अपार्टमेंट के गेट पर पुलिस की तैनाती की गई है ताकि कोई भी मीडिया कर्मी आवाज व्यक्ति अंदर ना प्रवेश कर सके

SVU को लगातार मिल रही थी शिकायतें

बता दें कि 16 दिसम्बर को पटना के निगरानी थाना में मणि रंजन के खिलाफ आय से अधिक मामले को लेकर केस दर्ज किया गया था. पटना स्थित निगरानी की विशेष कोर्ट के सर्च वारंट के आधार पर यह छापेमारी की जा रही है. सब रजिस्ट्रार मणि रंजन के खिलाफ SVU को लगातार शिकायतें मिल रही थीं. इसके बाद ADG के निर्देश पर एक टीम ने उनकी पड़ताल की जिसके बाद उनपर भ्रष्टाचार से जुड़े मामले और इससे अर्जित संपत्ति के सबूत मिले. तब एक साथ उनके तीनों ठिकानों पर छापेमारी की गई है.

Share this:

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *