उत्तराखंड हलचल

पहाड़ी फल आडू, पुलम और खुमानी की बहरी राज्यों के बाजार में बढ़ी डिमांड

हल्द्वानी : मौसम की मार के बावजूद पहाड़ी फल आड़ू, खुमानी और पुलम की देश के कई बड़ी मंडियों में खूब डिमांड हो रही है। हल्द्वानी मंडी से इन पहाड़ी फलों को भारी मात्रा में दूसरे राज्यों में भेजा रहा है।

फल कारोबारियों का कहना है कि इन दिनों रामगढ़, धारी, भीमताल, ओखल कांडा सहित अल्मोड़ा क्षेेत्र से काफी मात्रा में आड़ू, पुलम और खुमानी मंडी पहुंच रहा है। जिसके बाद यहां से रोजाना 60 से अधिक छोटी-बड़ी गाडिय़ां इन फलों को अन्य मंडियों तक ले जा रही हैं। जो पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश के मंडियों में खूब बिक रहे हैं। व्यापारियों की मानें तो आड़ू, पूलम और खुमानी के दाम होल सेल में 25 से 35 रुपये प्रति किलो और खुदरा बाजारों में 40 से 60 रुपये किलो मिल रहा है।

यहां फलों का उत्पादन सबसे अधिक

नैनीताल जिले के रामगढ़, धारी, भीमताल व ओखलकांडा ब्लॉक में सेब, आडू, खुमानी, पुलम आदि का बहुतायत से उत्पादन होता है। प्रदेश में उत्पादित होने वाले सेब, आडू में 60 प्रतिशत हिस्सेदारी केवल नैनीताल जिले की है। जिले में आठ हजार से अधिक काश्तकार फलोत्पादन से जुड़े हैं।

कहीं मौसम की मार न कर दे फलों का स्वाद फीका

उद्यान विभाग के मुताबिक नैनीताल जिले के 11013 हेक्टेयर क्षेत्रफल में 109107 मीट्रिक टन फलों का उत्पादन होता है। परंतु मौसम की मार से चकलुवा, गौलापार में आम और रामनगर में लीची और भीमताल, कोटाबाग के ग्रामीण क्षेत्रों में आडू, खुमानी, पुलम को काफी नुकसान पहुंचा है। जिससे आने वाले समय में इन फलों की मंडी में कमी हो सकती है और इसका सीधा असर फल उत्पादकों की आय पर पड़ेगा।

 

 

Share this:

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *