देश—विदेश

क्या फिर किसी बड़ी साजिश को अंजाम देने में जुटा है गोल्डी बराड़

सिंगर सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड का आरोपी गोल्डी बराड़ पंजाब और देश को एक बार फिर से दहलाने की कोशिश में जुटा है. हमारे सहयोगी चैनल जी मीडिया की छानबीन में सामने आया कि गैंगेस्टर ने पिछले दिनों पंजाब के पठानकोट स्थित एक बैंक में अकाउंट खुलवाने की कोशिश की. हालांकि अधिकारियों को उसकी एक्टिविटी पर संदेह हुआ और पुलिस को इसकी जानकारी दे दी. लेकिन जब तक पुलिस बैंक पहुंचती गैंगेस्टर बैंककर्मियों की आंखों से ओझल हो गया.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक खाता खुलवाने आया बदमाश अपने आप को राजस्थान का रहना वाला बताकर बैंक में आया था. जब बैंक के अधिकारियों को शक हुआ तो उन्होंने पुलिस को कॉल कर दी. इतने में बदमाश को पुलिस के आने की भनक लग गई और वो बाथरूम जाने के बहाने बैंक से गायब हो गया. पुलिस ने बैंक और बाहर की सीसीटीवी फुटेज कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है. यह बदमाश वही गोल्डी बराड़ है जोपंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड का मास्टरमाइंड है.

आपको बता दें कि आधार कार्ड पर जो फ़ोटो लगी थी वो गोल्डी बराड़ की फोटो थी. जिससे वह पठानकोट की ढांगू रोड स्थित नेशनल बैंक में अपना नकली खाता खुलवाना चाहता था. वह मैनेजर से भी मिला और नया बैंक अकाउंट खोलने की बात भी कही. जब बैंक मैनेजर ने केवाईसी (KYC) करने के लिए आधार कार्ड मांगा तो उस पर लगी फोटो को मैनेजर ने पहचान लिया. यह फोटो तो गैंगस्टर और सिद्धू मूसे वाला का कातिल गोल्डी बराड़ की है. यह देख बैंक मैनेजर को बदमाश पर शक हो गया.

मैनेजर ने तुरंत पठानकोट के एस एस पी अरूण सैनी को फोन कर पूरी बात बताई तब सैनी ने ही बैंक मैनेजर को वहां आए बदमाश को बातों में उलझाकर रखने को कहा था. मैनेजर ने स्टाफ को बुलाकर आरोपी को व्यस्त रखने और उसकी एक्टिविटी पर नजर रखने को कहा लेकिन इसी दौरान बदमाश को कुछ शक हो गया और वो बाथरूम जाने के बहाने उठा और गेट की तरफ से भाग निकला.

बैंक कर्मचारियों ने उसे पकड़ने की भी कोशिश की लेकिन वह लोग नाकाम रहे. पुलिस सूत्र बताते है कि जो KYC डिटेल्स बदमाश छोड़ गया था उसकी छानबीन की तो वह जोधपुर के किसी मांगीराम की निकली और उसके आधार कार्ड पर लगी फोटो कनाडा बैठे गैंगस्टर गोल्डी बराड़ से मैच हो रही है. संभव है कि उसने इंटरनेट से यह फोटो ली हो और उसपर नाम-पता भी फर्जी लगाकर नया गोल्डी के नाम का फर्जी एकाउंट खुलवाने की कोशिश कर रहा हो. जिससे कि गोल्डी वहां कनाडा में बैठे-बैठे पंजाब प्रदेश और देश में आतंक फैलाने के लिए और पैसे इन फ़र्ज़ी बैंक खातों में डाल दे और किसी को शक ना हो. बदमाश उसी के अकाउंट से एक्सेस लेकर उस पैसे को निकाले और दहशत फैलाने के लिए इस्तेमाल करें.

पुलिस सूत्रों के मुताबिक एक चीज़ और सामने निकल कर आई है कि आपने आप को राजस्थान का बताने वाला यह शख्स जितनी देर बैंक में रहा, तब तक बाहर हरियाणा नंबर की एक कार खड़ी रही. युवक के फरार होते ही कार भी वहां से चली गई. ऐसे में संभव है कि वह उसी कार में आया हो और वह हरियाणा का ही रहने वाला हो क्योंकि उसके बात करने का स्टाईल और वेशभूषा भी हरियाणवी लग रही थी. सूत्रों के मुताबिक इस संबंध में आला अधिकारियों को भी जानकारी दे दी गई है और साथ ही राजस्थान और हरियाणा की पुलिस से भी इस बारे में मदद ली जा रही है। हालांकि इस मामले में जांच शुरू हो चुके हैं लेकिन बैंक का अधिकारी और पुलिस अधिकारी इस संबंध में कुछ भी बोलने से बच रहे हैं.

Share this:

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *