देश—विदेश

नक्सलबाड़ी में कारोबारी नारायण अग्रवाल के ठिकानों पर इनकम टैक्स की रेड

उत्तर प्रदेश के कानपुर के इत्र व्‍यापारी पीयूष जैन Piyush Jain का पश्चिम बंगाल से तार जुड़ता नजर आ रहा है. पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी जिले के नक्सलबाड़ी (Naxalbari) में सुपारी तस्‍करी के धंधे का किंग माना जानेवाला नारायण अग्रवाल के 25 ठिकानों पर आज गुरुवार सुबह आयकर विभाग (Income Tax Raid) ने छापेमारी शुरू की है. पीयूष जैन से नारायण अग्रवाल का कनेक्‍शन मिलने के बाद आयकर ने उसके ठिकानों पर छापेमारी शुरू की है. नारायण अग्रवाल के सिलीगुड़ी, नक्‍सलबाड़ी फालाकाटा और धुपगुड़ी समेत उत्‍तर बंगाल स्थित 25 ठिकानों पर छापेमारी जारी है. बताया जाता है कि आयकर की टीम अपनी गाड़ी में शादी का स्‍टीकर लगाकर छापेमारी के लिए पहुंची थी. नारायण अग्रवाल के राइस मिल और खालपाड़ा स्थित झावर बिल्डिंग में छापेमारी के दौरान भारी संख्‍या में अर्द्धसैनिक बल तैनात किए गए हैं.

बता दें कि हाल में इत्र कारोबारी पीयूष जैन के खिलाफ डॉयरेक्टरेट जनरल ऑफ जीएसटी इंटेलीजेंस (डीजीजीआई) अहमदाबाद की टीम ने पीयूष जैन के खिलाफ अपर मुख्य महानगर मजिस्ट्रेट तृतीय की कोर्ट में 334 पन्नों की चार्जशीट दाखिल किया था.

पीयूष जैन के घर से करोड़ों रुपए किये गये थे जब्त

पीयूष जैन के कानपुर के आदंनपुरी स्थित आवास से 177.45 करोड़ रुपए की नकदी बरामद हुई थी. वहीं कन्नौज स्थित आवास से जांच टीम ने 19 करोड़ रुपए नकद, 23 किलो सोना और 600 लीटर चंदन का तेल जिसकी कीमत लगभग 6 करोड़ रुपए बताई जा रही थी. कन्नौज से मिले सोने के बिस्किट में विदेशी मार्क था. इसके साथ ही कन्नौज की एसबीआई बैंक के लॉकर से 09 लाख रुपए मिले थे. डॉयरेक्टरेट जनरल ऑफ जीएसटी इंटेलीजेंस (डीजीजीआई) अहमदाबाद की टीम ने चार्जशीट में इलेक्ट्रानिक, व्यापार से जुड़े दस्तावेजों, रेकॉड बयानों, मौखिख बयानों समेंत तमाम अहम साक्ष्यों को शामिल किया है. डीजीजीआई की टीम ने 16 गवाह बनाए हैं. इसमें एसबीआई कानपुर के मुख्य शाखा के मैनेजर, एसबीआई कन्नौज की सरायमीरा शाखा के मैनेजर समेत डीजीजीआई के अधिकारी शामिल हैं। इसके साथ ही 52 पन्नों में इत्र कारोबारी पीयूष जैन के बयानों को दर्ज किया गया है.

कोर्ट ने 8 मार्च को पीयूष जैन को किया है तलब

दूसरी तरफ उसकी पत्नी ने पीयूष को जेल से बाहर लाने के लिए मोर्चा संभाल लिया. अदालत से तत्काल आरोपपत्र की कॉपी ये कहते हुए मांगी कि जांच एजेंसी उनका इस्तेमाल उसके पति के खिलाफ कर सकती है. जांच एजेंसी द्वारा आपत्ति न करने के बाद चार्जशीट की कॉपी पत्नी को दे दी गई. आरोपपत्र दाखिल करने के कुछ ही देर बाद पीयूष की पत्नी कल्पना जैन ने एसीएमएम तृतीय की अदालत में प्रार्थनापत्र लगाया जिसमें कहा कि उनके पति के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की गई है. वहीं कोर्ट ने आरोप पत्र को संज्ञान में लिया है. पीयूष जैन को 08 मार्च को कोर्ट में तलब किया गया है.

Share this:

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *