आधी आबादी

गर्भावस्था में जौ का पानी पीने से मिलते है कई फायदे, डायबिटीज से मिलेगा छुटकारा

गर्भावस्था के दौरान पोषक तत्वों से भरपूर आहार लेना बेहद जरूरी है। इससे महिला का शरीर स्वस्थ रहता है और बच्चे का भी अच्छे से विकास होता है। गर्भावस्था के दौरान जौ का पानी पीने से कई लाभ मिलते है। साथ ही यह आपके मूड को भी फ्रेश रखता है क्योंकि कई बार गर्भावस्था के दौरान महिलाओं में मूड स्विंग की समस्या होने लगती है। जौ के पानी में फाइबर, प्रोटीन, फास्फोरस, पोटैशियम, मैग्नीशियम, कैल्शियम और आयरन पाए जाते हैं।

साथ ही इसमें जिंक, विटामिन बी6, फोलेट, राइबोफ्लेविन और कैलोरी की मात्रा भी पाई जाती है। प्रेग्नेंसी में इसके सेवन से पाचन संबंधी समस्या और डायबिटीज को कम करने में मदद मिलती है। इसका इस्तेमाल सलाद, सब्जी और स्मूदी के साथ किया जा सकता है। यह पूरे दिन आपको ऊर्जावान बनाए रखता है। आइए प्रेग्नेंसी के दौरान इसके फायदे, उपयोग और सावधानियों के बारे में विस्तार से जानते हैं।

गर्भावस्था में जौ का पानी पीने के फायदे

1. जौ के पानी में कैल्शियम, पोटेशियम, मैग्नीशियम और आयरन की भरपूर मात्रा पाई जाती है, जो भ्रूण के विकास के लिए आवश्यक हैं।

2. यह फाइबर से भरपूर होता है, जो गर्भावस्था के दौरान पाचन तंत्र को सही रखने में मदद करता है। इससे कब्ज, गैस और अपच की समस्या में भी आराम मिलता है।

3. जौ में नियासिन होता है, जो पाचन में मदद करता है। साथ ही नियासिन रक्त के थक्के जमने में भी मददगार होता है।

4. जौ के पानी का ग्लाइसेमिक इंडेक्स बहुत कम होता है। यह ब्लड शुगर के स्तर को बनाए रखने में मदद करत है और गर्भावस्था में डायबिटीज से बचाता है।

5. इसमें मौजूद कैल्शियम, फास्फोरस और कॉपर गर्भावस्था के दौरान रक्त वाहिकाओं, हड्डियों और जोड़ों को लचीला बनाए रखने में सहायता करता है।

6. प्रेग्नेंसी में यह पेट की सूजन को कम करता है और शरीर को डिटॉक्स करने में मददगार होता है। साथ ही संक्रमण से भी बचाव करता है।

7. सुबह खाली पेट जौ का पानी पीने से पेट में ऐंठन, जलन और मतली की समस्या नहीं होती है।

8. यह कोलेस्ट्रोल के स्तर को कम करने में मदद करता है, जिससे हृदय संबंधी समस्याएं को कम करने में मदद मिलती है।

गर्भावस्था में जौ का पानी का ऐसे करें सेवन

1. आप सुबह उठकर जौ का पानी पी सकती हैं। इसके लिए आप रात को जौ भिगोने को दे दें।

2. इसके अलावा आप इसके पानी का इस्तेमाल सब्जियों में कर सकते है।

3. गर्भावस्था के दौरान आप भिगे हुए जौ का इस्तेमाल स्मूदी में कर सकते है।

4. आप इसकी चटनी बनाकर भी खा सकते है।

5. इसके पानी से चेहरा साफ करने से गर्भवती महिलाओं को स्किन संबंधी समस्याएं कम हो सकती है।

ऐसे बनाएं जौ का पानी

1. जौ को साफ पानी से धोकर कम से कम 3 से 4 घंटे के लिए पानी में भिगोकर छोड़ दें।

2. 1 कप जौ को छानकर 3-4 कप पानी में मिला लें।

3. मिश्रण को एक पैन में उबलने के लिए रख दें। जब यह उबलने लगे तो इसे ढक्कन से ढक दें। इसे 45 मिनट से 1 घंटे तक उबलने के लिए छोड़ दें, जब तक कि जौ ठीक से पक न जाए और नरम न हो जाए।

4. अब मिश्रण को ठंडा होने के लिए छोड़ दें।

5. फिर इसे छानकर एक कप में निकाल लें और इसका सेवन सुबह या शाम को कर सकते है।

6. इसे आप फ्रिज में अधिकतम 3 दिनों के लिए स्टोर कर सकते हैं।

सावधानियां

गर्भावस्था में जौ का पानी पीने से कुछ नुकसान भी हो सकते है इसलिए आपको इन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

1. कुछ महिलाओं को जौ का पानी पीने से एलर्जी हो सकती है और इसके सेवन से खुजली, सांस लेने में तकलीफ और रैशेज हो सकते हैं।

2. संक्रमित जौ का सेवन करने से गर्भावस्था में नुकसान हो सकता है इसलिए कवक रहित जौ का चयन करें और उन्हें अच्छे से साफ करें।

3. जिन लोगों को ग्लूटेन से समस्या होती है, उन्हें इसका सेवन नहीं करना चाहिए। इसके अलावा कोई अन्य स्वास्थ्य समस्याओं में डॉक्टर की सलाह के बाद ही जौ का पानी पीएं।

Share this:

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *