उत्तराखंड हलचल

उच्च हिमालय में स्थित बेदनी बुग्याल को जंगली सुअरों ने किया तहस-नहस

देवाल : उच्च हिमालय में स्थित बुग्यालों (मखमली घास के मैदान) को जंगली सुअर भारी नुकसान पहुंचा रहे हैं। चमोली जिले में समुद्रतल से 11 हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित बेदनी बुग्याल को तो सुअरों ने बुरी तरह तहस-नहस कर डाला है। इसका पता तब चला, जब बीते सप्ताह वन विभाग की पूर्वी पिंडर रेंज देवाल की टीम ने बेदनी बुग्याल का निरीक्षण किया। इसकी जानकारी बदरीनाथ वन प्रभाग के अधिकारियों को दे दी गई है। संभवत: यह पहला मौका है, जब जंगली सुअरों ने किसी बुग्याल का नुकसान पहुंचाया है।

डिप्टी रेंजर पूर्वी पिडर रेंज देवाल त्रिलोक सिंह बिष्ट ने बताया कि बेदनी बुग्याल तक जंगली सुअरों का पहुंचना किसी आश्चर्य से कम नहीं है। संभवत: ऐसा पहली बार देखने में आ रहा है, जब जंगली सुअर बुग्याल की खोदाई कर दुर्लभ जड़ी-बूटियों को नष्ट कर रहे हैं। यह जैव विविधता की दृष्टि से खतरनाक है। श्रीनंदा देवी राजजात समिति के महामंत्री भुवन नौटियाल कहते हैं कि वन विभाग की ओर से बेदनी-बगजी बुग्याल के संरक्षण में जुटी पर्यावरण संरक्षण समिति को सहयोग नहीं मिल रहा है। नतीजा, ऐसी घटनाएं सामने आ रही हैं। कहा कि यदि समय रहते इस ओर ध्यान नहीं दिया गया तो तेजी से बदलते पर्यावरण का प्रभाव बुग्याल में देखने को मिलेगा। साथ ही दुर्लभ जड़ी-बूटियों का अस्तित्व भी खतरे में पड़ जाएगा।

उधर, जिला पंचायत सदस्य कृष्णा बिष्ट, हिमालयन रचनात्मक जनकल्याण समिति के सचिव गिरीश नौटियाल व पर्यावरण प्रेमी बलवंत सिंह ने श्रीनंदा देवी राजजात के इस अहम पड़ाव को बचाने के लिए वन विभाग को तत्काल प्रभावी कदम उठाने की मांग की है।

Share this:

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *