देश—विदेश

बंगाल में पशु तस्करी के खिलाफ फूटा गुस्सा, गाय चोर की पीट-पीटकर की हत्या

पश्चिम बंगाल में गाय तस्करी का मामला सुर्खियों में है. गौ तस्करी के मामले में सीबीआई ने बीरभूम के टीएमसी के हैवीवेट नेता अनुब्रत मंडल को गिरफ्तार किया है और अब जलपाईगुड़ी में गाय चोरी करने के आरोप में स्थानीय लोगों ने एक युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी है. घटना जलपाईगुड़ी में राजगंज में घटी है. जलपाईगुड़ी जिले के राजगंज प्रखंड के कुकुरजन क्षेत्र के बरुआ मोहल्ले में मंगलवार देर रात कुछ बदमाश गाय चोरी करने के लिए घुसे. इसके बाद घर के लोगों ने उनका पीछा किया. सभी भागने में सफल रहे, लेकिन एक स्थानीय चाय बागान में छिप गया.

बाद में स्थानीय लोगों ने चाय बागान को घेर लिया. फिर, सुबह में चाय बागान में छिपे चोर को स्थानीय लोगों ने दबोच लिया. बाद में उन्होंने मारपीट शुरू कर दी. उसी पिटाई से व्यक्ति की मौत हुई है.

लोगों ने गाय चोर की पीट-पीटकर की हत्या

सूचना मिलने के बाद राजगंज थाना पुलिस मौके पर पहुंची. कई लोगों को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है. घटना में जलपाईगुड़ी के पुलिस अधीक्षक देवर्षि दत्ता ने कहा, ”कुछ लोगों को पीट-पीटकर मार डालने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है.” राजगंज थाने के पुलिस अधिकारी को जांच के आदेश दे दिए गए हैं. इस मामले में पूरी जांच की जा रही है. बता दें कि इसके पहले ही जलपाईगुड़ी में गौ तस्करी के मामला सामने आ चुका है. जलपाईगुड़ी जिले में गौ तस्करी को लेकर कई बार बीएसएफ के साथ तस्करों की मुठभेड़ भी हो चुकी है. हालांकि बीएसएफ की सख्ती के कारण गाय तस्करी पर कुछ लगाम लगा है.

राज्य में गाय तस्करी को लेकर मचा है बवाल

गौरतलब है कि गाय तस्करी को लेकर राज्य में बवाल मचा हुआ है. कल यानि मंगलवार को पुरुलिया में दूध का वैन पलट गया था. इसमें दूध की जगह गाय निकली थी. इसमें पांच गायों की मरने की सूचना है. स्थानीय लोगों का कहना है कि तस्करी नए तरीके से हो रही थी. स्थानीय पुलिस ने पूरे मामले की जांच शुरू की है. इस मामले में वैन के ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया गया है. इसे लेकर बीजेपी के नेता शुभेंदु अधिकारी ने निशाना साधते हुए आरोप लगाया था कि चूंकि गायों की तस्करी पर लगाम लगी है. इसलिए तस्कर नये-नये तरीके अपना रहे हैं और फिल्म पुष्पा की तर्ज पर तस्करी की घटना को अंजाम दे रहे हैं.

Share this:

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *