देश—विदेश

सोने की खान के बाद बिहार में पेट्रोलियम भंडार के लिए खोज हुई शुरू

बिहार के जमुई में एक तरफ देश की सबसे बड़ी सोने की खदान होने की बात सामने आई है, तो दूसरी तरफ बक्सर और समस्तीपुर में पेट्रोलियम के भंडार होने की संभावना जताई जा रही है. समस्तीपुर जिले के 308 किलोमीटर और बक्सर के 52.13 वर्ग क्षेत्र में पेट्रोलियम पदार्थ मिलने के संकेत मिले हैं. इसकी खोज के लिए बिहार सरकार ने स्वीकृति प्रदान कर दी है. भारत सरकार ने प्रस्ताव भेजा था.

इसकी जानकारी देते हुए भारत सरकार के गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने कहा कि भारत सरकार के उपक्रम तेल और प्राकृतिक गैस निगम लिमिटेड (ONGC) को समस्तीपुर के गंगा बेसिन में पेट्रोलियम पदार्थों के खोज के लिए बिहार सरकार ने स्वीकृति आज दे दी है. अनुमान है कि पेट्रोलियम का भंडार मिल सकता है. समस्तीपुर में 308 किलोमीटर वर्ग क्षेत्र में तेल की खोज अत्याधुनिक तकनीक से किया जाना है.

अनुमान सत्य साबित होगा: नित्यानंद राय

देश के गृह राज्यमंत्री मंत्री राय ने कहा कि समस्तीपुर जिले से गुजरने वाली गंगा बेसिन में तेल का पर्याप्त भंडार होने का अनुमान लगाया गया है. नित्यानंद राय ने तेल भंडारण के मिलने का दावा करते हुए कहा कि पेट्रोलियम मंत्री से बात होने के बाद मैं दावे के साथ कहा सकता हूं कि समस्तीपुर में तेल का भंडार मिलने का अनुमान सत्य साबित होने वाला है. यहां 308 किलोमीटर वर्ग क्षेत्र में तेल अगर मिल जाता है तो आप समझ सकते हैं कि समस्तीपुर के साथ साथ बिहार में क्या हो सकता है.

PM मोदी की दूरदृष्टि

केंद्रीय राज्य मंत्री ने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चाहते हैं कि भारत पेट्रोलियम के क्षेत्र में भी आत्मनिर्भर बने. हमें दूसरे देशों पर आश्रित नहीं होना पड़े. उन्होंने बताया कि पेट्रोलियम पदार्थों पर भारत सरकार को एक बड़ी राशि सब्सिडी के रूप में देनी पड़ती है.

बक्सर के डीएम के पास आया पत्र 

ONGC ने बक्सर जिला प्रशासन को भी एक पत्र भेजा है. इससे बालू और बाढ़ की बहुतायत वाले प्रदेश के भूगर्भ में कीमती वस्तुओं के मिलने की संभावना बलवती होती जा रही है. बक्सर के जिलाधिकारी ने बताया कि इस आशय का पत्र जिला प्रशासन को प्राप्त हुआ है कि गंगा के बेसिन में पेट्रोलियम पदार्थ हो सकतें हैं.

बक्सर जिलाधिकारी कार्यालय पहुंची ONGC की चिट्ठी.

जल्द ही सर्वे किया जाएगा 

तेल और प्राकृतिक गैस निगम लिमिटेड (ओएनजीसी) का यह अनुमान है कि बक्सर 52.13 km  और समस्तीपुर में तेल के बड़े भंडार हो सकते हैं. ओएनजीसी बिहार के खान और भूतत्व विभाग से पेट्रोलियम एक्सप्लोरेशन (अन्वेषण) के लिए लाइसेंस के लिए आवेदन दिया है. डीएम ने कहा कि बहुत जल्दी ही ओएनजीसी के साथ मिलकर स्थल निरीक्षण का कार्य किया जाएगा.

Share this:

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *